Panna : “खटिया पर सिस्टम” बीमार युवक को खाट पर लिटाकर ले गए अस्पताल

पन्ना, भारत सिंह यादव। सरकार के तमाम दावों के बाद भी प्रदेश में ऐसे कई इलाके हैं जहां लोग मूलभूत सुविधाओं के लिए भी तरस रहे हैं। ताजा मामला पन्ना की रैपुरा तहसील के ग्राम कंचनपुरा से सामने आया है, जहां एक मजबूर पिता को अपने बेटे को खटिया पर अस्पताल ले जाना पड़ा। ग्रामीणों की मदद से मरीज को खटिया पर लिटाकर ले जाया गया।

अंग्रेजी और कंप्यूटर सीख कर समय बिता रही गीता के माता-पिता की तलाश का सफर आज भी जारी….

इस युवक की तबीयत काफी खराब थी और उसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाना था। लेकिन पक्की सड़क नहीं होने के कारण कोई भी गाड़ी गांव तक नहीं पहुंच पाती है, जिस वजह से मजबूरन ग्रामीण युवक को खटिया पर लिटाकर अस्पताल तक ले गए। जानकारी के मुताबिक कंचनपुरा गांव के निवासी बबलू सिंह धुर्वे (उम्र 36) काफी बीमार थे। उसकी हालत बिगड़ती देख पिता प्रेम सिंह धुर्वे ने बेटे को अस्पताल जाने का फैसला किया। लेकिन इलाके में सड़क नहीं होने के कारण उन्हें ग्रामीणों की मदद लेनी पड़ी। क्योंकि वहां तक किसी भी वाहन का पहुंचना संभव नहीं था इसलिए युवक को खटिया पर लिटाकर दलदल भरी सड़क और नदी-नालों को पार कर अस्पताल पहुंचाया गया।

कंचनपुरा गांव के लोग लंबे समय से सड़क नहीं बनने के कारण परेशान हैं। हर छोटे-मोटे काम के लिए उन्हें काफी काफी जद्दोजहद करना पड़ता है. ऐसे में अगर किसी की तबीयत खराब हो जाती है, तो उसे समय पर इलाज तक नहीं मिल पाता है। इधर मरीज को खटिया पर अस्पताल ले जाने का वीडियो सामने आने के बाद रैपुरा तहसील के नायब तहसीलदार रामप्रताप सिंह से इस बारे में बात की गई तो उन्होंने बताया कि कंचनपुरा गांव से 4 किमी. दूर झालाडूंमरी गांव है, जहां रास्ते में एक नाले पर पुल न होने के कारण इस तरह की दिक्कत लोगों को झेलनी पड़ती है। तस्वीरें सामने के बाद मामला उनके संज्ञान में आया है और जल्द ही उन्होने ग्राम पंचायत के सरपंच-सचिव से चर्चा कर नाले पर पुलिया का निर्माण कराने की बात कही है।