मानव तस्करी गैंग पर पुलिस की नकेल, दो नाबालिग बरामद, मुंबई बेचने की कोशिश में थे आरोपी

बच्ची से जब पुलिस ने पूछताछ की तो वो सहमी हुई थी उसने कहा कि दो लोग उसे देखने आये थे लेकिन उसे मुंबई के बारे में ज्यादा कुछ नहीं पता।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। पुलिस की सजगता और सूझबूझ से दो नाबालिग (Minor) बच्चियों की जिंदगी देह व्यापार के नरक में जाने से बच गई। एक कार्रवाई ग्वालियर की महाराजपुरा थाना पुलिस ने की है तो दूसरी कार्रवाई STF ग्वालियर ने की है। पुलिस ने मानव तस्करी गैंग (Human Trafficking Gang) के कब्जे से दो नाबालिगों (Minor) को मुक्त कराया है। पुलिस ने एक महिला सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

जानकारी के अनुसार एसपी अमित सांघी (SP Amit Sanghi)  के पास शिवपुरी के ग्राम सलैया निवासी एक महिला ने शिकायत दर्ज कराई कि ग्वालियर के बदनापुरा में रहने वाला भोला धनावत चार साल पहले उसके गाँव में रहता था भोला ने उससे कहा कि वो उसकी बेटी को अपने साथ रख लेगा क्योंकि उसका बेटा अभी छोटा है दोनों की परवरिश एक साथ नहीं कर सकती। परिचित होने के कारण महिला ने भोला की बात मान ली। तीन साल तक भोला उसके गाँव में ही रहा फिर वो उसकी बेटी को लेकर ग्वालियर में बदनापुरा आ गया। जब वो मिलने आई तो भोला ने उसे बेटी से नहीं मिलने दिया। महिला को बदनापुरा के एक दुकानदार ने बताया कि 15 साल की एक नाबालिग को भोला और उसका रिश्तेदार मनीष धनावत मुंबई बेचने की कोशिश में हैं। मुंबई के दो दलाल बच्ची का फोटो लेकर गए हैं।

महिला की शिकायत पर एसपी ने महाराजपुरा CSP अखिलेश रेनवाल और टी आई सुधीर सिंह कुशवाह को एक्शन लेने के निर्देश दिये। पुलिस फोर्स ने बदनापुरा में छापा मारा और दोनों युवकों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 15 साल की नाबालिग को मुक्त कराया। बच्ची से जब पुलिस ने पूछताछ की तो वो सहमी हुई थी उसने कहा कि दो लोग उसे देखने आये थे लेकिन उसे मुंबई के बारे में ज्यादा कुछ नहीं पता। पुलिस ने भोला धनावत और मनीष धनावत के खिलाफ FIR दर्ज कर ली है। पुलिस को देखकर मौका पाकर गैंग में शामिल महिलाएं भाग गई।

STF ने मुक्त कराई 5 साल की नाबालिग

उधर ग्वालियर STF ने मुरैना में कार्रवाई कर एक महिला को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से 5 साल की मासूम को मुक्त कराया है। पुलिस अधीक्षक STF ग्वालियर नीरज सोनी को शिकायत प्राप्त हुई थी कि मुरैना निवासी एक महिला नवजात बच्चियों को ख़रीद कर उन्हें पाल कर देह व्यापार के लिए बेच देती है। शिकायत आवेदन की जाँच उप निरीक्षक जितेंद्र दोहरे द्वारा की गयी। शिकायत जाँच में पाया गया कि आरोपी महिला द्वारा नवजात बच्ची के फ़र्ज़ी दस्तावेज तैयार कराकर अपनी पुत्री के रूप में रखा जाता है, आरोपी महिला देह व्यापार की संदिग्ध गतिविधियों में संलिप्त पायी गयी । जाँच के बाद आरोपी महिला को STF ग्वालियर की टीम एवं थाना स्टेशन रोड मुरैना की टीम द्वारा गिरफ़्तार कर 5 साल की मासूम बालिका को मुक्त करा लिया और थाना स्टेशन रोड मुरैना में महिला के खिलाफ FIR दर्ज करवाई। STF महिला आरोपी से बच्ची को ख़रीदने के सम्बंध में पूछताछ कर रही है । 5 साल की मासूम को मुक्त कराने की कार्रवाई में DSP STF ग्वालियर सुश्री रोशनी सिंह ठाकुर, इंस्पेक्टर चेतन सिंह, सब इंस्पेक्टर जितेंद्र दोहरे, प्रधान आरक्षक भूपेन्द्र गुर्जर एवं CSP मुरैना प्रियंका मिश्र थाना प्रभारी स्टेशन रोड मुरैना आशीष राजपूत की मुख्य भूमिका रही ।