खजराना गणेश मंदिर के गर्भगृह में दर्शन को लेकर सियासी हलचल, बीजेपी पर कांग्रेस और आप ने साधा निशाना

मध्यप्रदेश (Madhyapradesh) के इंदौर (Indore) शहर का सबसे प्रसिद्ध मंदिर खजराना गणेशा (Khajrana Ganesh Mandir) को लेकर हाल ही सियासत शुरू हो गई है।

khajaran ganesh mandir

मध्यप्रदेश (Madhyapradesh) के इंदौर (Indore) शहर का सबसे प्रसिद्ध मंदिर खजराना गणेशा (Khajrana Ganesh Mandir) को लेकर हाल ही सियासत शुरू हो गई है। दरअसल, इंदौर के प्रसिद्ध खजराना गणेश मंदिर में भक्तों को गर्भ ग्रह में दर्शन के लिए प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। लेकिन महाकाल मंदिर के साथ देशभर के विभिन्न मंदिरों के गर्भ ग्रह में भक्तों को प्रवेश देने की अनुमति दे दी गई है। वहीं खजराना गणेश में प्रवेश नहीं दिए जाने को लेकर अब सियासी हलचल शुरू हो गई है।

Must Read : Aaradhya Bachchan का थ्रोबैक वीडियो वायरल, मीडिया पर गुस्सा करती आई नजर

जानकारी के मुताबिक, गर्भ ग्रह के सामने बने बरामदे से ही भक्तों को दर्शन करने देने के लिए खजराना गणेश मंदिर में 500 रुपए का शुल्क वसूला जा रहा है। दरअसल इससे पहले यहां निशुल्क प्रवेश भक्तों को दर्शन के लिए दिया जाता था। लेकिन कोरोना के बाद से ही यहां भक्तों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। जैसा कि आप सभी जानते हैं इंदौर का खजराना गणेश मंदिर विश्व प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। लेकिन उसके बाद भी यहां ऐसा किए जाने पर अब सियासत गर्म आ गई है। भक्तों का भी इस बात को लेकर गुस्सा देखने को मिल रहा है।

khajaran ganesh mandir

कांग्रेस और आप ने साधा निशाना –

इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस पार्टी और आप पार्टी ने भी बीजेपी को आड़े हाथों ले लिया है। दरअसल, इस मामले को लेकर कांग्रेस ने आपत्ति दर्ज करवाई है। वहीं आप पार्टी के सदस्यों ने भी बीजेपी पर निशाना साधा है। बीजेपी को कहा गया है कि अपने आपको धर्म का ठेकेदार बताने वाली बीजेपी के शहर में कई बड़े नेता, मंत्री, सांसद और अब महापौर भी है।

किसी ने भी इस सियासत को बंद करने और दर्शनार्थियों के गर्भगृह में प्रवेश के लिए प्रयास नहीं किया। लगातार कांग्रेस इस वसूली को बंद करने और भक्तों को गर्भगृह में प्रवेश दिलवाने के लिए मांग उठा रही है। वहीं आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं का कहना है कि ये भगवान के भक्तों के साथ अन्याय है, आम श्रद्धालुओं को भगवान से दूर करने की साजिश है,आम आदमी पार्टी मंदिर में हो रही वसूली और गर्भ गृह में प्रवेश की मांग को लेकर आंदोलन चलाएगी।