भोपाल,डेस्क रिपोर्ट। किडनी की बीमारी (Kidney disease) से ग्रसित लोगों के लिए एक काम की खबर है। असम दौरे पर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने रविवार को अपने संबोधन में प्रधानमंत्री डायलिसिस प्रोग्राम (Pradhan Mantri Dialysis Programme) के बारे में बताया। उन्होंने असम के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार द्वारा कई जनकल्याणकारी योजनाएं (Public welfare schemes) चलाई जा रही हैं, जैसे कि आयुष्मान भारत (Ayushman Bharat), जन औषधि केंद्र, प्रधानमंत्री  नेशनल डायलिसिस प्रोग्राम। अपने संबोधन में पीएम द्वारा कहा गया कि आयुष्मान भारत योजना हो या जन औषधि योजना या फिर प्रधानमंत्री नेशनल डायलिसिस प्रोग्राम (Pradhan Mantri Dialysis Programme) , यह सभी योजनाएं सामान्य मानव जीवन में बदलाव लाने का काम करेंगी। इसका असर ना सिर्फ असम बल्कि देश के समूचे राज्यों में दिख रहा है।

जिला स्तर पर भी मिलता है लाभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में प्रधानमंत्री डायलिसिस प्रोग्राम (Pradhan Mantri Dialysis Programme) के बारे में जिक्र किया। दरअसल सरकार द्वारा चलाई जा रही कई योजनाओं में से एक प्रधानमंत्री डायलिसिस प्रोग्राम (Pradhan Mantri Dialysis Programme) भी है जो किडनी से ग्रसित लोगों के हित के लिए बनाई गई है  जिसके बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं। दरअसल किडनी के मरीजों को डायलिसिस की जरूरत पड़ती है, इसी के मद्देनजर प्रधानमंत्री डायलिसिस प्रोग्राम (Pradhan Mantri Dialysis Programme) की शुरुआत की गई है, जिसकी मदद से आमजन जिला स्तर पर भी इस प्रोग्राम का लाभ उठा सकते हैं।

ये भी पढ़े – SBI में जनधन खाता धारकों के लिए खुशखबरी, अब मिलेगा 2 लाख रुपए तक का लाभ

साल 2016 में हुई थी शुरुआत

बता दें कि प्रधानमंत्री डायलिसिस प्रोग्राम (Pradhan Mantri Dialysis Programme) की शुरुआत 2016 में की गई थी और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत यह प्रोग्राम चलाया जा रहा है। 2016 से लेकर अब तक लाखों मरीजों ने इस योजना का लाभ उठाया है। इस कार्यक्रम के तहत जिला अस्पतालों में किडनी मरीज को डायलिसिस की मुफ्त सुविधा प्रदान की जाती है। यह कार्यक्रम सार्वजनिक और निजी साझेदारी (पीपीपी) मोड में चलाया जा रहा है। इस योजना के तहत किडनी के मरीजों को जिला अस्पताल में ही डायलिसिस की सुविधा दवाइयां, जलापूर्ति और बिजली की सुविधा फ्री में दी जा रही है।

ये होता है डायलिसिस 

हिंदी में डायलिसिस का अर्थ अपोहन होता है। खून को मशीनों के जरिए साफ करने की प्रक्रिया को डायलिसिस कहते हैडायलिसिस को करने में 4 घंटे का वक्त लगता है और इसे हफ्ते में तीन बार किया जाता है। जब किडनी खराब हो जाती है तब इसकी जरुरत पड़ती है। कड़नी खून से विषाक्त पदार्थों को साफ नहीं कर पाती है, जिसके चलते डायलिसिस की मदद से खून से विषाक्त पदार्थों निकाले जाते है और अम्ल-क्षारों और पानी की मात्रा का संतुलन बनाया जाता है।