भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल वासियों के लिये एक खुशखबर सामने आई है जहां भारत सरकार के सहयोग द्वारा एक और ऑक्सीजन प्लांट लगाने की तैयारी की जा रही है। राजधानी भोपाल के जेपी अस्पताल में 1000 लीटर प्रति मिनट की क्षमता वाला एक और ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट लगाया जाएगा। यह प्लांट भारत सरकार के सहयोग से लगाया जा रहा है। प्लांट को लगाने के लिए सीमेंट-कांक्रीट का आधार बनाने का काम भी लोक निर्माण विभाग ने शुरू कर दिया है। करीब महीने भर में इस प्लांट से ऑक्सीजन मिलने लगेगी। उधर, पहले से तैयार किए जा रहे 1000 लीटर प्रति मिनट की क्षमता वाले एक और प्लांट में ऑक्सीजन तैयार करने का काम अगले हफ्ते से शुरू हो जाएगा। यह प्लांट लग चुका है, फिलहाल इसका परीक्षण चल रहा है।

Dabra News: बिना मुद्दों की राजनीति जानते हैं कांग्रेसी- नरोत्तम मिश्र

महीने भर में बनकर तैयार हो जाएगा प्लांट

जानकारी के अनुसार दूसरा प्लांट भी भारत सरकार ने स्वीकृत किया है। दोनों प्लांट के अलावा 500 लीटर प्रति मिनट की क्षमता वाला एक प्लांट मध्य प्रदेश सरकार यहां पर लगा रही है। इस तरह महीने भर के भीतर यहां पर कुल ढाई हजार लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन के उत्पादन की क्षमता हो जाएगी। इस तरह जेपी प्रदेश का पहला अस्पताल होगा, जहां ढाई हजार लीटर प्रति मिनट की क्षमता ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट की होगी। आईसीयू में भर्ती मरीजों को औसतन 10 लीटर प्रति मिनट की लिहाज से ऑक्सीजन की जरूरत पड़ती है। ऐसे में तीनों प्लांटों से 250 मरीजों को ऑक्सीजन दी जा सकेगी।

Chhatarpur News: करंट लगने से एक ही परिवार के 6 लोगों की दर्दनाक मौत, 2 की हालत गंभीर

इसके अलावा काटजू सिविल अस्पताल में भी 500 लीटर प्रति मिनट की क्षमता का ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट हफ्ते भर में तैयार हो जाएगा। यहां पर कोरोना के 200 मरीजों को भर्ती करने की सुविधा है। हालांकि फिलहाल सिर्फ एक मरीज यहां पर भर्ती है। हमीदिया अस्पताल में भी 500 लीटर की क्षमता वाला एक प्लांट निजी कंपनी कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी के तहत लगा रही है।