Ragging in Indore : MGM मेडिकल कालेज में रैगिंग, पुलिस की गिरफ्त में 6 डॉक्टर

Ragging in Indore : इंदौर के महात्मा गांधी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज से हाल ही में एक रैगिंग की बड़ी खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि इस कॉलेज के 6 डॉक्टरों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दरअसल, इन डॉक्टरों ने जूनियर की रैगिंग ली और तरह-तरह से परेशान किया। ये भी कहा जा रहा है कि तीन डॉक्टर गिरफ़्तारी के डर से छुट्टी लेकर गायब हो गए। वहीं जिन डॉक्टरों को गिरफ्तार किया है उनके खिलाफ पहले पुलिस ने वेश बदल कर कैंटीन, होस्टल क्षेत्र से सबूत जुटाए उसकी बाद गिरफ़्तारी की। हालांकि डाक्टरों ने पीड़ित छात्रों से समझौता कर लिया था लेकिन उसके बाद भी कुछ नहीं हो सका।

संयोगितागंज टीआइ तहजीब काजी के अनुसार, मेडिकल छात्रों ने यूजीसी रैगिंग की शिकायत की थी। जिसके बाद 24 जुलाई के दिन पुलिस ने आरोपितों पर 6 धाराओं में केस दर्ज किया। लेकिन बाद में जब पुलिस ने छात्रों से बयान लिया तो सभी मुकर गए। जिसके बाद पुलिस ने इस मामले में गोपनीयत जानकारियां जुटाई। ऐसे में ये बात पता चली की आरोपित वर्ष 2020-21 के सीनियर छात्र है। जैसे ही इन छात्रों को एफआईआर की जानकारी लगी तो सभी ने पीड़ित छात्रों पर दबाव बना दिया। ऐसे में पुलिस की टीम ने वेश बदल कर सारी जानकारियां जुटाई।

इसके अलावा पुलिस की टीम ने छात्रों से दोस्ती कर होस्टल में होने वाले क्रियाकलापों के बारे में पता किया। ऐसे में ये बात सामने आई कि रैगिंग की घटना सही है। हालांकि छात्र बताने से हिचकिचा रहे थे लेकिन बाद में दो छात्रों ने बता दिया कि आखिर क्या हुआ था। जिसके बाद कुछ चिन्हित छात्रों का पुलिस ने डाटा एकत्रित किया। सभी से पूछताछ की। तभी पुत्र विकासचंद्र मिश्रा, प्रियम पुत्र प्रमोद त्रिपाठी, देववृत पुत्र राजेश गुप्ता, राहुल पुत्र सत्यनारायण पटेल, शैलेष पुत्र हरिचरण शर्मा और चेतन पुत्र राकेश वर्मा को गिरफ्तार किया। हालांकि अभी इन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया है। वहीं चार डॉक्टर अभी फरार है।