Ragging in Indore : इंदौर के इस कॉलेज में रैगिंग का खुलासा, एंटी रैगिंग कमेटी को सौंपी जांच

Ragging in Indore : इंदौर में कुछ दिनों पहले ही महात्मा गांधी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज से एक रैगिंग का मामला सामने आया था। जिसको लेकर पुलिस ने बड़ी मशक्कत से सीनियर स्टूडेंट्स को अपनी गिरफ्त में लिया था। वहीं अब एक और रैगिंग का मामला इंदौर के श्री गोविंदराम सेक्सरिया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से सामने आया है। बताया जा रहा है कि यहां सीनियर्स स्टूडेंट ने 2022 से 2023 तक में प्रवेश लेने वाले फर्स्ट ईयर के छात्रों के साथ रैगिंग की। उनके लिए एक विशेष ड्रेस कोट निर्धारित किया जो हॉस्टल में रहने वाले छात्रों पर लागू किया गया।

शिक्षकों ने लगाया रैगिंग का पता –

ऐसे में जब कॉलेज के छात्र एक जैसी ड्रेस पहनकर कॉलेज में आए तो शिक्षकों को उन पर शक हुआ। सभी ने उनको देख मंथन किया और उनसे पूछताछ की। लेकिन किसी भी छात्र ने पहले कुछ भी नहीं कहा बाद में जब सख्ती से पूछताछ की गई तो कुछ छात्रों ने धीमी आवाज में ये बताया कि सीनियर स्टूडेंट उनके साथ रैगिंग कर रहे हैं। कुछ विद्यार्थियों द्वारा बताया गया कि सीनियर्स रात में अपने-अपने कमरों में बुलाकर अलग-अलग टास्क देते हैं। अगर वह पूरा नहीं किया तो 7 दिनों तक एक जैसे ड्रेस पहनने के लिए कहते हैं।

अब इस मामले को लेकर कॉलेज ने सीनियर को नोटिस जारी किया है। साथ ही एंटी रैगिंग कमेटी को भी इसकी जांच सौंप दी है। जानकारी के मुताबिक, काफी लंबे समय से संस्थान में सीनियर और जूनियर के बीच रैगिंग का मामला चल रहा है। लेकिन अब तक एक भी विद्यार्थी ने इसका विरोध नहीं किया। इस मामले को लेकर घटना तब सामने आई जब एक ही परिसर में छात्र एक जैसे कपड़े पहन कर नजर आए। सभी ने फुल स्लीव ट शर्ट, फुल पैंट और फॉर्मल जूते और एक जैसा बेल्ट पहनना हुआ था।

इसे देख शिक्षकों को शक हुआ। जिसके बाद जांच की गई और पूछताछ की गई तो सेकंड ईयर के छात्र पृथ्वीराज शर्मा पर रैगिंग करने का आरोप लगा। ऐसे में शिक्षकों ने पृथ्वीराज शर्मा के बारे में जानकारी जुताई और सभी छात्रों के मोबाइल की जांच की। जिसके बाद पता चला कि फर्स्ट ईयर की जब वह पढ़ाई कर रहा था तो अनुशासनहीनता को लेकर हॉस्टल से उसे बाहर कर दिया गया था। ऐसे में वह कॉलेज के पास ही रूम लेकर रह रहा था लेकिन उसका कॉलेज के हॉस्टल में आना जाना था। प्रथुराज को होस्टल में कई बार देखा गया है। अब इस मामले को लेकर सख्ती से जांच की जा रही है।