लगातार बारिश ने खोली घटिया निर्माण की पोल, बेगमगंज में बीना नदी पर बना पुल 3 फीट धंसा

जिससे यह मार्ग बंद हो जाने से हैदरगढ़ मार्ग का आवागमन पूरी तरह से प्रभावित हो गया।

रायसेन,डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में मानसून (mp weather) के प्रभावी होते ही प्रदेशभर में झमाझम बारिश का दौर जारी है। नदी-नाले उफान पर है और बांधों के गेट खोल दिए गए है। वहीं रायसेन (raisen) जिले में दो दिन से लगातार हो रही बारिश के चलते नदी नाले उफ़ान पर होने से क्षेत्र के दो दर्जन से ज्यादा गाँवो का तहसील मुख्यालय से संपर्क टूट गया। रविवार दिन एवं रातभर लगातार बारिश के चलते सागर भोपाल का पराशरी रिपटा, बेगमगंज सुल्तानगंज मार्ग का घोघरीं रिपटा नगर बेगमगंज कॉलेज के पास कोहनियां ढिमरोली गांव पहुंच मार्ग के रिपटा पर चार फीट पानी होने वहीं बेगमगंज बीना नदी के पास के पुल पुल का एक हिस्सा तीन फीट जमीन में धंसकर टूट गया। जिससे यह मार्ग बंद हो जाने से हैदरगढ़ मार्ग का आवागमन पूरी तरह से प्रभावित हो गया।

यह भी पढ़े…पुलिस वर्दी में आए बदमाशों ने की दिनदहाड़े लूट, किशोरी की गला घोंटाकर हुई मौत

आपको बता दें की करोड़ों की लागत से एक साल पहले बना बेगमगंज हैदरगढ़ पहुँच मार्ग के पुल का हिस्सा तीन फीट तक धंस गया जिसके चलते मार्ग बंद कर दिया गया। स्थानीय नागरिकों का कहना है कि पुल के निर्माण के समय अनियमितताएं होने ये पुल क्षतिग्रस्त होकर धंस गया है। आगे और पुल क्षतिग्रस्त होने की संभावना है। बीना नदी उफान पर होने से नदी ने खेतो मैं से रास्ता बना लिया जिसके चलते नदी के आसपास पानी ही पानी दिख रहा।

यह भी पढ़े…ईशान खट्टर और मृणाल ठाकुर स्टारर पिप्पा का टीजर हुआ रिलीज

गौरतलब है कि खेतो में पानी होने से किसानों की कई एकड़ की फसल नदी के बहाव में बह गई है। वहीं बीना नदी का पानी माला बेरखेड़ी वाला रोड के पुल एवं विनायकपुर बर्री कला के पल के ऊपर 20 फुट पानी होने यह मार्ग भी पूरी तरह बंद है। वहीं एडीएम ने धंसे हुए पुल के निरीक्षण की सिर्फ औपचारिकता निभाई। वे बाहर से ही अवलोकन करके लौट गए। उन्होंने बताया कि पुल के क्षतिग्रस्त होने की वजह साफ नहीं हो पा रही है क्योंकि जलस्तर बढ़ गया है। प्रशासन की पहली प्राथमिकता ये है कि जानमाल का नुकसान ना हो। इस रास्ते को बंद किया जा रहा है। सुरक्षा के लिए चौकीदार भी तैनात कर दिए गए हैं।