एमपी में आफत बनकर बरसी बारिश, ओलो से फसलों को भारी नुकसान

रायसेन।दिनेश यादव।एमपी में बारिश का दौर फिर शुरु हो गया है। बुधवार के बाद गुरुवार को भी कई जिलों में बारिश हुई।बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि ने किसानों को एक बार फिर उदास कर दिया है। जिले की बेगमगंज तह सील लगभग पूरी तरह ओलावृष्टि से प्रभावित हुई है। जहा कई गांवो में आज गुरुवार सुबह बारिश के साथ हुई अति ओलावृष्टि मैं फ़सलों को भारी नुकसान हुआ है।

बारिश के साथ तेज ओलावृष्टि से बेगमगंज के आसपास ग्राम कीरतपुर बड़गवां लखनपुर जमुनिया बासादेही के साथ अन्य गांव प्रभावित है। वही सुल्तानगंज इलाके के ग्राम गढ़िया गोपई पंदरभटा चैनपुरा गुलवाड़ा सुनवाहा करण सिंह टेकापार सहित इलाके के अन्य गांवों में भी हुई सुबह ओलावृष्टि से किसानों के चेहरे पर मायूसी छा गई है। जहाँ चना फ़सलों के साथ गेहूं की फसले भी ओलावृष्टि से प्रभावित हुई हैं।

बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि पर सुलतानगंज घाना वार्ड से जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि दिग्विजय सिंह यादव का कहना है, कि हम शासन प्रशासन से ओलावृष्टि में हुए फ़सलों के नुकसान की सर्वे की मांग करते हैं। प्रशासन जल्द सर्वे करवाकर ओलावृष्टि में फ़सलों को हुए नुकसान की भरपाई किसानों को मुआवजा देकर करें। यादव ने यह भी कहा कि किसान हमेशा खेती पर ही निर्भर होते हैं ऐसे में क्षेत्र में हुई बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि ने किसानों की कमर तोड़ दी है।

किसान साल भर अपनी खेत में लगी फ़सलों के भरोसे रहता है। उसी में से वह अपना और पूरे परिवार का भरण-पोषण सहित अन्य पारिवारिक जिम्मेदारियों को उठाता है। किसान के परिवार में शादी हो या अन्य कोई कार्यक्रम वह इंतजार करता है, कि आने वाली उसकी फसल से उसको यह सारे काम करने हैं। लेकिन उसी दौरान अगर किसान पर कोई प्राकृतिक आपदा आती है। तो वह उससे टूट जाता है ऐसे में शासन प्रशासन को मुआवजा राशि देकर उन किसानों का सहयोग करना चाहिए।

एमपी में आफत बनकर बरसी बारिश, ओलो से फसलों को भारी नुकसान एमपी में आफत बनकर बरसी बारिश, ओलो से फसलों को भारी नुकसान