बर्बाद फसलों को देख बोले CM, ‘कर्ज भी लेना पड़े तो लेंगे, पर किसानों के नुकसान की भरपाई करेंगे’

रायसेन, डेस्क रिपोर्ट| बारिश-बाढ़ से बर्बाद हुई फसल का जायजा लेने शुक्रवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) रायसेन जिले (Raisen District) के अनेकों गांवों में पहुंचे| उन्होंने खेतों में पहुंचकर फसल को देखा। किसानों से बातचीत की और मदद का भरोसा दिया। सीएम ने कहा है कि चाहे उन्हें कर्ज लेना पड़े, वे किसानों के नुकसान की भरपाई राहत की राशि और फसल बीमा से करेंगे। रायसेन जिले के बाद मुख्यमंत्री ने सीहोर जिले के भी गाँवों में फसलों का निरीक्षण किया|

रायसेन जिले के गैरतगंज में बाढ़ प्रभावितों को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने किसानों से कहा कि लगता है ईश्वर ने उन्हें कोरोना से लड़ने और किसानों के दुख-दर्द दूर करने के लिए ही फिर मुख्यमंत्री बनाया है। उन्होंने किसानों से कहा कि आंखों में आंसू मत लाना, मैं परिश्रम की पराकाष्ठा करके आपको संकट से पार निकालकर ले जाऊंगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने यहाँ सोयाबीन और उड़द फसलों में लगे यलो-मौजिक रोग के चलते फसलों के नुकसान का खेतों मे जाकर निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने जिला-प्रशासन को निर्देश दिए कि सर्वे का काम शीघ्र करें और किसी भी प्रकार की हड़बड़ी न हो इसका भी विशेष ध्यान रखें। उन्होंने कहा कि कोई भी प्रभावित किसान फसलों के सर्वे के बाद राहत और बीमा राशि से वंचित नहीं रहे। सर्वे में पंचायत के 5 सदस्यों को भी रखें जिससे कोई गड़बड़ी नहीं हो। उन्होंने बेगमगंज और सिलवानी के किसानों को आश्वस्त किया कि पूर्व में हुई गड़बड़ी की जांच के साथ इस बार पारदर्शी तरीके से सर्वे होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उनकी सरकार बाढ़ पीड़ितों की मदद के साथ ही गरीब किसानों की मदद में सक्रिय भूमिका का निर्वहन कर रही है। दिन-रात एक करके पिछले हफ्ते ही बाढ़ में फंसे 13 हजार लोगों की जान बचाई गई है। इससे पहले मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गैरतगंज से लगे ग्राम सहजपुर के खेतों मे पहुँचकर यलो-मौजिक रोग से प्रभावित हुई सोयाबीन फसल का जायजा लिया।

गरीबों के भारी-भारी बिजली के बिल स्थगित
मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि गरीबों के भारी-भारी बिजली के बिल उन्होंने स्थगित कर दिये हैं और इस माह से माहवार नये बिल आएंगे। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार द्वारा गरीबों के कल्याण की सभी योजनाएं बंद कर दी गई थीं, संबल सहित ऐसी सभी योजनाएं फिर से शुरू कर दी गई हैं। श्री चौहान ने कहा कि अब किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि रायसेन में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की किश्त जमा करने की तारीख अब 7 सितम्बर कर दी गई है। विधायक श्री रामपाल सिंह ने तिथि बढ़ाने पर मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।

एक-एक खेत का सर्वे ईमानदारी और निष्पक्षता के साथ हो
सीएम शिवराज ने पग्नेश्वर में किसानों, ग्रामीणों से संवाद करते हुए कहा कि उन्हें चिंता करने की जरूरत नहीं है, सरकार आपके साथ है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि एक-एक खेत का सर्वे ईमानदारी और निष्पक्षता के साथ किया जाये, कोई भी प्रभावित सर्वे से न छूटे। मुख्यमंत्री ने ग्राम मेढ़की, पग्नेश्वर, धनियाखेड़ी, धौबाखेड़ी और ताजपुर सूर में बाढ़ से प्रभावित फसलों का निरीक्षण किया तथा किसानों से चर्चा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उनके पास हर क्षेत्र की जानकारी है और उन्होंने प्रशासन को सभी क्षेत्रों में तत्काल सर्वे कर मदद पहुँचाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि फसलों को हुए नुकसान की भरपाई की जाएगी। जिनके घरों को क्षति पहुँची है, उन्हें भी हरसंभव राहत दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here