जिला पंचायत कर्मचारी को 20,000 रुपये की रिश्वत लेते, लोकायुक्त पुलिस ने किया गिरफ्तार

Bhopal Lokayukta Police : भोपाल लोकायुक्त पुलिस ने आज शुक्रवार को 20,000/- रुपये की रिश्वत लेते हुए एक शासकीय कर्मचारी को रंगे हाथ गिरफ्तार किया है, गिरफ्तार किया गया कर्मचारी जिला पंचायत कार्यालय रायसेन में संविदा डाटा एंट्री ऑपरेटर है लेकिन सचिवों का कार्य देखता है।

जानकारी के मुताबिक गैरतगंज तहसील के ग्राम टेहरीमुरपार के रहने वाले हरनाम सिंह लोधी नामक युवक ने लोकायुक्त एसपी भोपाल के कार्यालय में 28 दिसंबर को एक शिकायती आवेदन दिया था। आवेदक ने लिखा कि उसकी मां प्रभा बाई ग्राम पंचायत टेहरीमुरपार की सरपंच है और वह सरपंच प्रतिनिधि के रूप में काम करता है, उसकी पंचायत में सचिव नहीं है जिसके कारण विकास कार्य सहित प्रशासनिक कार्य प्रभावित होते हैं।

आवेदक हरनाम ने बताया कि जिस पंचायत में सचिव पदस्थ नहीं होता वहां नियमानुसार ग्राम रोजगार सहायक को ये जिम्मेदारी दी जाती है लेकिन जिला पंचायत कार्यालय रायसेन में पदस्थ संविदा डाटा एंट्री ऑपरेटर आशीष श्रीवास्तव ग्राम रोजगार सहायक मनोज यादव को ये जिम्मेदारी दिए जाने के बदले 25 हजार रुपए की रिश्वत की मांग कर रहे हैं।

शिकायत मिलने के बाद लोकायुक्त पुलिस की टीम ने इसकी जांच की और सत्य साबित होने पर डाटा एंट्री ऑपरेटर  आशीष श्रीवास्तव को ट्रैप करने की योजना बनाई, आज 30 दिसंबर को लोकायुक्त पुलिस भोपाल की टीम ने आवेदक हरनाम सिंह को जिला पंचायत कार्यालय रायसेन भेजा और टीम भी वहां पहुंची ।

आवेदक हरनाम सिंह लोधी को डाटा एंट्री ऑपरेटर आशीष श्रीवास्तव ने अपने कार्यालय जिला पंचायत रायसेन बुलाया, यहाँ पहुंचकर हरनाम ने जैसे ही रिश्वत की राशि 20,000/- रुपये आशीष श्रीवास्तव को दी पहले से कार्यालय के बाहर मौजूद लोकायुक्त पुलिस भोपाल की टीम ने इशारा मिलते ही उसे रिश्वत के साथ गिरफ्तार कर लिया ।

जिला पंचायत कर्मचारी को 20,000 रुपये की रिश्वत लेते, लोकायुक्त पुलिस ने किया गिरफ्तार