राजगढ़/ब्यावरा।

मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले में पुलिस की प्रताड़ना से तंग आकर एक नाबालिग ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। फांसी से पहले नाबालिग ने वीडियो बनाया था और पुलिस अधिकारियों पर भी मारपीट और 50 हजार के लिए दवाब बनाने का आरोप है। घटना के बाद जिले में हड़कंप मच गया है।मामले को गंभीरता से लेते हुए एडिशनल एसपी ने मालावार थाना प्रभारी और एसआई को निलंबित कर दिया है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

मिली जानकारी के अनुसार, घटना बीती रात ब्यावरा के मलावर थाने की है। यहां एक ग्राम तलवाडा महाराजा के 16 वर्षीय नाबालिग ने वीडियो बना फांसी लगाकर जान दे दी। बताया जा रहा है कि मामला मलावर थाना में गोलू नामक युवक को पुलिस ने नाबालिग के अपहरण और दुष्कर्म के मामले में गिरफ्तार किया था जिसमे आरोपी अपने मामा रामसरूप की बाइक मांगकर ले गया था।मलावर थाने के एएसआई अवध नारायण शर्मा ने रामसरूप को आरोपी न बनाने के 50 हज़ार मांगे थे जिसपर 30 हज़ार देते रामसरूप ने एएसआई की मोबाइल में रिकार्डिंग की जो एएसआई ने उसी समय देख ली ओर मोबाइल छुड़ाकर रख लिया। रामसरूप से खूब मारपीट की उसने प्रताड़ना से तंग आकर खुद का वीडियो रिकार्ड किया और आत्म हत्या कर ली।

वही घटना के बाद परिजनों में आक्रोश है।परिजनों ने इस संबंध में शिकायत दर्ज की है जिसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि पुलिस ने 22 अप्रैल को किशोर व उसके भाई को थाने में बुलाकर ज्यादती के केस में फंसाने की धमकी दी थी। साथ ही मलावर थाने के नरेंद्र सिंह गुर्जर व एएसआई नारायण शर्मा ने उसके साथ मारपीट भी की और 50 हजार की मांग की। पुलिस को उन्होंने 30 हजार रुपए भी दिए गए थे। इसके बाद भी वे 20 हजार के लिए दबाव बना रहे थे। इधर परिजनों की शिकायक के बाद मामले को गंभीरता से लेते हुए एडिशनल एसपी ने मालावार थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया है और फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

 

VIDEO बना नाबालिग ने लगाई फांसी, पुलिस पर प्रताड़ना के आरोप, TI-SI निलंबित