राजगढ़ में कलेक्टर और एसपी ने दिखाया हुनर, खुद सुधारे बंद पड़े वेंटिलेटर

राजगढ़, डेस्क रिपोर्ट। कलेक्टर नीरज सिंह और एसपी प्रदीप शर्मा की मेहनत से राजगढ़ जिला चिकित्सालय को दो वेंटिलेटर और मिल गए। दरअसल कलेक्टर नीरज सिंह और एसपी प्रदीप शर्मा पीपीई किट पहनकर बुधवार को अचानक राजगढ़ जिला चिकित्सालय के कोरोना वार्ड पहुंच गए। कलेक्टर ने वार्ड में वेंटिलेटर की कमी की जानकारी मिलने पर 6 माह पहले से स्टोर रूम में पड़े 4 वेंटिलेटर्स को निकलवाया और टूलकिट लेकर इंस्टाल कर दिए। 4 वेंटिलेटर में से 2 वेंटिलेटर कलेक्टर और एस पी की मेहनत से चालू हो गए हैं।

ये भी देखिये – विधायक ने लगाया एडीएम पर रेमडेसिवीर इंजेक्शन की बंदरबांट का आरोप

राजगढ़ में कलेक्टर और एसपी ने दिखाया हुनर, खुद सुधारे बंद पड़े वेंटिलेटर

राजगढ़ जिला अस्पताल के स्टोर रूम में पड़े वेंटीलेटर इंजीनियर न आने से 6 महीने से बेकार पड़े थे। जिसकी वजह से मरीजों को लाभ नही मिल पा रहा था। ऐसे में रुड़की से बीटेक कर दो वर्ष निजी कम्पनी में इंजीनियर रहे एसपी प्रदीप शर्मा को अपना हुनर याद आया एवं एसपी कलेक्टर दोनों ने आंखों ही आंखों में चर्चा कर बेकार पड़े वेंटिलेटर ठीक कर कोविड वार्ड में इंस्टाल भी कर दिए।

इस दौरान उन्होंने मरीजो के हाल चाल भी जानें एवं अस्पताल की व्यवस्थाएं भी देखी। वेंटिलेटर इंस्टाल करने के दौरान पीडब्ल्यूडी इंजीनियर सुमितसिंह और नपा इंजीनियर अंकितसिंह ने भी इस दौरान वेंटिलेटर विवरणिका पुस्तक में देखकर उनकी मदद की। दोनों आईएएस आईपीएस अधिकारियों ने सुबह 9 बजे से 2 बजे तक दो वेंटिलेटर तैयार किए। एसपी और कलेक्टर की मेहनत से निश्चित रूप से कहीं गंभीर मरीजों की जान अब इन वेंटिलेटर के माध्यम से बचाई जा सकेगी।राजगढ़ में कलेक्टर और एसपी ने दिखाया हुनर, खुद सुधारे बंद पड़े वेंटिलेटर