जज ने सुनाई आजीवन कारावास की सजा, न्यायालय से फरार हुआ दोषी

राजगढ़, डेस्क रिपोर्ट। जिला कोर्ट में जज ने 376 पॉस्को एक्ट के मामले में एक दोषी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। सजा सुन उसके पैरों तले जमीन खिसक गई, और आरोपी जितेंद्र भील न्यायालय से ही फरार हो गया। इस घटना के बाद राजगढ़ एसपी प्रदीप शर्मा सहित बाकी पुलिसकर्मी दोषी की तलाश में कई किलोमीटर पैदल ही खोजबीन करते रहे, लेकिन अब तक फरार अपराधी जितेंद्र भील का पता नही चल सका है।

मामला राजगढ़ जिला कोर्ट परिसर का है, यहां पॉस्को एक्ट सहित नाबालिग के साथ बलात्कार करने के मामले में कोर्ट ने शुक्रवार को फैसला सुनाते हुए जितेंद्र भील को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। सजा सुनते ही कोर्ट परिसर से अपराधी जितेंद्र कोर्ट के मुंशी को धक्का देकर फरार हो गया। अपराधी के फरार होने के बाद राजगढ़ एस प्रदीप शर्मा सहित पुलिसकर्मी अपराधी की तलाश करते रहे ।

बताया जा रहा है कि दो साल पहले इस आरोपी जितेंद्र भील ने मानसिक विकलांग बच्ची के साथ बहला फुसला कर बलात्कार किया था। जब नाबालिग बालिका गर्भवती हो गई तब परिजनों के पूछने पर पीड़िता ने अपने परिजनों को घटना के बारे में बताया जिसके बाद 2018 में ठीक दो साल पहले नाबालिग पीड़िता को लेकर उसके परिजन राजगढ़ थाने पहुंचे और आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज करवाया। राजगढ़ थाने में आरोपी के विरुद्ध पॉस्को एक्ट सहित नाबालिग से बलात्कार करने और अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया था। शुक्रवार को आरोपी को जिला राजगढ़ न्यायलय में न्यायाधीश ने अपराधी को अपनी अंतिम सांस तक आजीवन कारावास की सजा सुनाई तो दोषी के पैर के नीचे से जमीन खिसक गई और वो कोर्ट परिसर से फरार हो गया। फरार अपराधी को पकड़ने के लिए राजगढ़ एसपी सहित पुलिसकर्मी उसकी तलाश कर रहे हैं।

जज ने सुनाई आजीवन कारावास की सजा, न्यायालय से फरार हुआ दोषी