राजगढ़ में अश्लील पोस्टर और विज्ञापन से स्वच्छता का संदेश दे रही नगर पालिका

राजगढ़, डेस्क रिपोर्ट। नगर पालिका लोगों को स्वच्छता का जो पाठ पढ़ा रही है उस पाठ से महिलाएं शर्मसार हो रही हैं। जिस तरह के पोस्टर नगर पालिका द्वारा लगाए गए हैं, वो महिलाओं की शालीनता के विरूद्ध है। वहीं इन चित्रों में देवी देवताओं का पहनावा भी गलत दिखाया गया है, जिसका लोग विरोध कर रहे हैं। दीवारों पर भद्दी तस्वीरें और पोस्टर चस्पा होने के कारण राह से गुजरती महिलाओं को नजरें चुरानी पड़ रही हैं। ये चित्र राजगढ़ के उत्कृष्ट स्कूल व कॉलेज के बाहर की बाउंड्री वाल पर बनाए गए हैं।

शहर की दीवारों पर यह पेंटिंग नगर पालिका द्वारा स्वच्छता अभियान के तहत स्वच्छता का संदेश देने के लिए बनवाई जा रही है। लेकिन दीवारों पर बनी ये तस्वीरें स्वच्छता का संदेश कम अश्लीलता का संदेश ज्यादा दे रही है। इन तस्वीरों को देखकर महिलाओं के सिर शर्म से झुक रहे हैं। वहीं हिंदू वादी संगठन इसे हिन्दू धर्म का अपमान बता रहे हैं। ये पेंटिंग पूरे शहर में चर्चा का विषय बनी हुई है। जिला पंचायत कार्यालय एवं उत्कृष्ट विद्यालय व कॉलेज की दीवारों पर बनी पेंटिंग में अश्लीलता नजर आ रही है। पेंटिंग में बनाया गया महिलाओं के चित्र व यशोदा मैया और भगवान कृष्ण को दिखाया गया है जिसमें यशोदा मैया का पहनावा सही ढंग से चित्रित नहीं किया है। उत्कृष्ट विद्यालय में पढ़ने आने वाली छात्राओं पर इन चित्रों को देखकर छात्र कमेंट्स कर रहे हैं। छात्राओं का विद्यालय में आना दूभर हो रहा है। एक चित्र में शहीद भगतसिंह की तस्वीर को बनाया गया है जिसमें भगतसिंह के एक हिस्से को काले रंग से ढंक दिया गया। इस तस्वीर में शहीद का अपमान किया जा रहा है। यशोदा मैया और भगवान कृष्ण के चित्रों का सही चित्रण न करने पर हिन्दूवादी संगठन विरोध जताते हुए इसे हिन्दू धर्म का अपमान बता रहा है। वहीं इन चित्रों को बनाने वाले पेंटर का कहना है कि ये डिजाइन उसे नगरपालिका द्वारा उपलब्ध करवाई गई है। ऐसा नहीं है कि इस बारे में नगर पालिका प्रशासन को पता नहीं है, लेकिन नगर पालिका प्रशासन फिलहाल अपनी इस गलती को सुधारने की तैयारी में नहीं दिख रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here