नपा कर्मी संजय जाट की हत्या के मामले में जिले भर के निकाय कर्मचारी हुए लामबंद, पुलिस को दी यह चेतावनी

सीएमओ पवन मिश्रा ने कहा कि आगामी तीन दिन में आत्महत्या के लिए दबाव बनाने वाले दोषियों को गिरफ्तार नही किया गया तो पूरे जिले के नगर पालिका कर्मचारी संगठन बंद करने को मजबूर होंगे।

case of murder of

राजगढ़, डेस्क रिपोर्ट। राजगढ़ जिले (Rajgarh District) के ब्यावरा (Biaora) में पिछले दिनों 14 अगस्त की रात्रि में ब्लैकमेलरों के दबाव में नपा कर्मी संजय जाट ने आत्महत्या (suicide) कर ली थी। जिसके बाद नपाकर्मी संजय जाट कांड के दोषियों को गिरफ्तारी की मांग को लेकर जिले भर के निकाय कर्मचारियों ने शुक्रवार को ब्यावरा थाने पहुंचकर एवं जमकर नारे बाजी की। वहीं ब्यावरा थाना प्रभारी राजपालसिंह राठौड़ की मौजूदगी में कर्मचारियों ने चेतावनी देते हुए निकाय कर्मचारी एसोशियन के महामंत्री पचोर नगर परिषद सीएमओ पवन मिश्रा ने कहा कि आगामी तीन दिन में आत्महत्या के लिए दबाव बनाने वाले दोषियों को गिरफ्तार नही किया गया तो पूरे जिले के नगर पालिका कर्मचारी संगठन बंद करने को मजबूर होंगे। जिले भर में आंदोलन किए जाएंगे। इस दौरान कर्मचारियों ने जमकर नारे भी लगाए।

यह भी पढ़ें…Betul News : जीजा-साली ने खाया जहर, साली की मौत, बहन ने किये चौंकाने वाले खुलासे

क्या था मामला
दरअसल कुछ लोगो की प्रताड़ना से तंग आकर 14 अगस्त की रात को ब्यावरा नपाकर्मी संजय जाट को ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। आरोप है कि ब्यावरा के मानचित्र कार भागीरथ जाटव, गिरिराज कसेरा, रजत कसेरा और इश्तियाक नबी खान मृतक संजय जाट को लगातार मानसिक प्रताड़ित रहा था। वहीं ब्यावरा का रहने वाला इश्तयाक नबी खान नामक व्यक्ति ने भी मृतक पर निलंबन का दबाव बनाकर 50 हजार रुपए की मांग की थी। मृतक के भतीजे आकाश जाट ने आरोप लगाए है कि इश्तयाक ने उसके चाचा के निलंबन की मांग के लिए राजगढ़ में आवेदन दिया था एवं आवेदन वापस लेने के लिए 50 हजार रुपए की मांग कर रहा था जिससे प्रताड़ित मृतक ने 14 अगस्त की रात को आत्महत्या कर ली।

घटना के बाद जिले भर के सभी नपाकर्मियो ने 16 अगस्त को अपने अपने क्षेत्र में ज्ञापन सौंपकर मामला दर्ज करने की मांग की थी। पुलिस 4 दिन पहले नपा कर्मचारी संजय जाट द्वारा की गई खुदकुशी मामले में 04 व्यक्तियों पर आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर लिया गया है। भादवि 306 के तहत ब्यावरा सिटी थाने में दर्ज की गई है। लेकिन 5 दिन बाद भी आरोपियों की गिरफ्तारी नही हुई है। जिसको लेकर निकाय कर्मचारियों में आक्रोश है ।

नपा कर्मी संजय जाट की हत्या के मामले में जिले भर के निकाय कर्मचारी हुए लामबंद, पुलिस को दी यह चेतावनी

यह भी पढ़ें…Datia : कलेक्टर ने दो पंचायत सचिवों को किया निलंबित, आदेश जारी