खाद्यान्न के लिए दर-दर भटक रहे हितग्राहियों ने किया प्रदर्शन, उग्र आंदोलन की चेतावनी

राजगढ़, डेस्क रिपोर्ट। नगर पालिका ब्यावरा में पिछले 3 माह से खाद्यान्न के लिए दर-दर भटक रहे खाद्यान्न पर्ची के हितग्राहियों ने आज सैकड़ों की तादाद में नगर पालिका के मुख्य द्वार पर ताला बंदी कर धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रदर्शन में बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल हुई नगर पालिका के खिलाफ नारे लगाए।

प्रदर्शनकारियों का कहना था कि खाद्यान्न पर्ची की सूची से उनका नाम काट दिए जाने को लेकर वो पिछले 3 माह से ब्यावरा नगर पालिका के चक्कर काट रहे हैं। खाद्यान्न के अभाव और अधिकारियों के आश्वासन से परेशान गरीबों के सामने रोजी-रोटी की समस्या उत्पन्न हो गई है। धरना प्रदर्शन करने वालों में पूर्व विधायक पुरुषोत्तम दांगी, पूर्व नपाध्यक्ष डॉक्टर भारत वर्मा भी शामिल थे। खाद्य अधिकारी और नगर पालिका सीएमओ ने इन्हें 26 जनवरी 2021 तक हितग्राहियों का नाम पोर्टल पर चढ़ाने एवं हितग्राहियों को खाद्यान्न पर्ची के माध्यम से खाद्यान्न उपलब्ध कराए जाने का आश्वासन दिया, जिसके बाद प्रदर्शनकारियों ने धरना प्रदर्शन समाप्त किया। इन्होने चेतावनी दी है कि 26 जनवरी के बाद यदि उनकी मांगें नहीं मानी गई तो उग्र आंदोलन किया जाएगा जिसकी संपूर्ण जवाबदारी प्रशासन की होगी

इस मामले में सुरेश शर्मा खाद्य अधिकारी राजगढ़ का कहना है कि कुछ लोगों के पात्र परिवार है उनकी पात्रता पर्ची या नहीं है कुछ ऐसे परिवार भी है जो कह रहे हैं उनकी पात्रता पर्ची पूर्व में थी लेकिन उनकी पात्रता पर्ची पोर्टल से हट गई है, इसलिए उनको खाद्यान्न नहीं मिल पा रहा है। शासन ने अभी 8 चरणों में पात्रता पर्ची जारी की है, नौवें चरण की पात्रता पर्ची जारी होना है। अगला चरण जारी होने में एक महीना लगेगा ऐसा हमें एनआईसी ने जानकारी दी है। यह 3 महीने से चक्कर लगा रहे हैं तो जानकारी अपडेट करना नगर पालिका का काम है। नगर पालिका जानकारी अपडेट करती है और उपभोक्ता जानकारी देता है। जो उपभोक्ता कागज देगा कागज सही होंगे तो पोर्टल पर जानकारी अपडेट हो जाती है। पात्रता की श्रेणी का कागज, आधार कार्ड, परिवार के सदस्यों की जानकारियां अगर पूरी है तो अपडेट हो ही जाता है। संबंधित हितग्राहियों को नगर पालिका ही सारी जानकारी दे सकती है। उनका कहना है कि मेरे पास अठारह हितग्राही आए थे, उनकी नगरपालिका को सूची दी गई थी कि इनको प्राथमिकता से अपडेट करें। इनमें कोई कागजात की कमी पाई गई होगी तो संबंधित हितग्राही द्वारा कागज उपलब्ध कराने पर अपडेट कर दिया जाएगा।

वहीं ब्यावरा के पूर्व विधायक पुरुषोत्तम दांगी ने कहा कि गरीबों की मांग को लेकर पिछले 3 महीनों से दो वक्त की रोटी के लिए भटक रहे थे। पिछले 3 महीनों से नगर पालिका में आते सीएमओ साहब आश्वासन देते चले जाते। आज हमने तालाबंदी की, सीएमओ साहब से ठोस आश्वासन लिया। 26 जनवरी तक इन गरीबों की जो समस्या है राशन पर्ची कंप्यूटर से किसी कारणवश गायब हो गई थी, उसे अपलोड करवाएंगे तथा एडिट कर कर दोबारा राशन चालू करवाएंगे। जिन लोगों के नाम छूट गए उनके नाम फिर लिखवाए जा रहे हैं। यही हमारी मांग थी। गरीबों को जब तक हक नहीं मिलता, कांग्रेस पार्टी की लड़ाई जारी रहेगी। 26 जनवरी तक का आश्वासन सीएमओ साहब ने दिया है, तब तक इन गरीबों का समस्याओं का निदान हो जाता है तो ठीक है नहीं तो हम उग्र आंदोलन करेंगे ।