राजगढ़ कलेक्टर ने खुद पर लगाया जुर्माना, 2 निलंबित, 5 को नोटिस

वही कलेक्टर ने निर्देश दिए कि सभी विभागीय अधिकारी 1 सप्ताह के अंदर अभियान चलाकर सी.एम. हेल्पलाइन समाधान ऑनलाइन समय सीमा निर्धारित पत्रों जनसुनवाई और जनप्रतिनिधियों से प्राप्त पत्र का निराकरण करना सुनिश्चित करें।

RAJGARH COLLECTOR

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के राजगढ़ जिले (Rajgarh District) में कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ( Neeraj Kumar Singh) ने सीएम हेल्पलाइन (CM Helpline) में लापरवाही बरतने पर ना सिर्फ 1139 अधिकारी-कर्मचारियों पर 1 लाख से ज्यादा का जुर्माना लगाया है बल्कि खुद पर भी 100 रुपये का जुर्माना लगाया है।यह संभवत: प्रदेश का पहला मामला है जब खुद पर कलेक्टर ने इस तरह की कार्रवाई की हो।

दरअसल,  सोमवार को कलेक्टर नीरज कुमार सिंह (Collector Neeraj Kumar Singh) ने समाधान ऑनलाईन, प्रधानमंत्री आवास, मनरेगा, सी.एम. हेल्पलाइन, जनसुनवाई तथा जनप्रतिनिधि और सी.एम. मेनीट के लंबित प्रकरणों की विभागवार समीक्षा की थी, जिसमें उन्होंने एल 1 से एल 2 तथा एल 2 से एल 3 की शिकायतों पर विभागीय अधिकारियों द्वारा किसी भी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं करने पर कार्रवाई करते हुए प्रति शिकायत 100 रूपये के मान से 1139 शिकायतों पर एक लाख 13 हजार से भी अधिक राशि का जुर्माना लगाया। संभवत: मध्य प्रदेश का यह पहला मामला है, जब राजगढ़ कलेक्टर (Rajgarh Collector) ने सीएम हेल्पलाइन व अन्य शिकायतों का निराकरण नहीं होने पर खुद की गलती मानते हुए स्वयं पर 100 रुपये का जुर्माना लगाया ।

वही कलेक्टर ने निर्देश दिए कि सभी विभागीय अधिकारी 1 सप्ताह के अंदर अभियान चलाकर सी.एम. हेल्पलाइन समाधान ऑनलाइन समय सीमा निर्धारित पत्रों जनसुनवाई और जनप्रतिनिधियों से प्राप्त पत्र का निराकरण करना सुनिश्चित करें। समीक्षा के दौरान उन्होने पशु चिकित्सा विभाग के सहायक क्षेत्रीय पशु चिकित्सा अधिकारी छापीहेड़ा और पिपलिया कला के एम.एस. मंसूरी और पी.एस. दांगी को केसीसी से संबंधित कार्य नही करने के कारण निलंबित करने के निर्देश दिए। उन्होंने इसी प्रकार निर्धारित समय सीमा में पत्रों का निराकरण नहीं करने के कारण मुख्य कार्यपालन अधिकारी सारंगपुर, लोकशिक्षण विभाग, पी.एम.जी.एस.वाई. तथा सारंगपुर तहसीलदार को शोकॉज नोटिस जारी करने के लिए निर्देशित किया। साथ ही राजगढ़ तहसीलदार को बैठक में अनुपस्थित रहने के कारण नोटिस देने के निर्देश दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here