Rajgarh News : जनसुनवाई में भी नहीं सुन रहे अफसर, पीड़ित ने अपनाया यह रास्ता, एसपी ने की तुरंत सुनवाई

Rajgarh News : राजगढ़ जिले में मंगलवार को अपनी जमीन पर दबंगों के अवैध कब्जे से परेशान दिव्यांग युवक कलेक्ट्रेट के सामने पानी की टंकी पर चढ़ गया और फाँसी का फंदा लगाने की धमकी देने लगा, जिससे प्रशासनिक अधिकारियों के हाथ पैर फूल गये। दिव्यांग युवक ने करीब 15-20 मिनिट तक जोरदार हंगामा किया। अधिकारियों द्वारा सुनवाई नहीं किये जाने से नाराज युवक कलेक्ट्रेट के सामने स्थित पानी की टंकी पर चढ़कर फांसी का फंदा लगाने की धमकी दे रहा था। ऐसे में मौके पर लोगो की भारी भीड़ जुट गई, सूचना के बाद मौके पर कोतवाली पुलिस पहुंची, लेकिन दिव्यांग युवक जमीन से कब्जा हटवाने और दोषियों पर कार्रवाई की मांग पर अड़ा हुआ था, कुछ देर बाद पुलिस ने उसे समझाइश देकर नीचे उतारा। तब जाकर आसपास के लोगों ने राहत की साँस ली।

दबंगों के अवैध कब्जे से परेशान था दिव्यांग

मामला राजगढ़ जिले के जीरापुर थाना क्षेत्र के लसुड़लिया खेराज का बताया जा रहा है। जहाँ रहने वाले दिव्यांग युवक दिलीप मालवीय का आरोप है, कि उसकी जमीन पर गांव के कुछ दबंग लोगों ने कब्जा कर रखा है। इसकी कई बार शिकायत करने के बावजूद अधिकारियों ने उसकी सुनवाई नही की। प्रशासन द्वारा कार्रवाई नहीं करने से आहत होकर वह मंगलवार को कलेक्ट्रेट के सामने बनी पानी की टँकी पर चढ़ गया।

Rajgarh News : जनसुनवाई में भी नहीं सुन रहे अफसर, पीड़ित ने अपनाया यह रास्ता, एसपी ने की तुरंत सुनवाई

दिव्यांग दिलीप के टंकी पर चढ़ने की सूचना के बाद मौके पर लोगों की भीड़ जमा होने लगी। आसपास के लोगों ने इसकी सूचना कोतवाली पुलिस को दी, तब मौके पर पहुँची पुलिस ने युवक को समझाने का प्रयास किया, लेकिन युवक टँकी से लटक कर फांसी लगाने का प्रयास करने लगा। करीब 15-20 मिनिट तक यह हाई वोल्टेज ड्रामा चलता रहा। जब पुलिसकर्मियों ने उसे कार्यवाही करने का आश्वासन देते हुए समझाईश दी, तो वह मान गया और जैसे तैसे नीचे उतारा और फिर उसे पुलिस अधिक्षक कार्यालय राजगढ़ ले गए, जहां एसपी धर्मराज मीणा ने युवक से मुलाकात कर उसे हर संभव मदद का आश्वासन दिया। पीड़ित दिव्यांग युवक की शिकायत व उसका पक्ष सुनने के बाद एसपी ने तहसीलदार गुलाब सिंह बघेल को बुलाया और इस जमीनी मामले की शीघ्र जांच करने को कहा।
राजगढ़ से जितेन्द्र राठौर की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News