ग्रामीणों ने पुलिस को बनाया बंधक, अवैध शराब की सूचना पर पहुंचे थे जवान

राजगढ़| मनीष सोनी| मध्यप्रदेश के राजगढ़ में शराब बिकने की सूचना पर पहुंची पुलिस और ग्रामीण के बीच जमकर हंगामा हुआ| रामपुरिया गांव के लोगों ने डायल 100 को बुलाया। लेकिन जब डायल 100 की टीम गांव में पहुंची तो वहां कई ग्रामीण एक साथ खड़े हुए थे, ऐसे में पुलिस ने शराब पर कार्रवाई की, वहीं लोगों को सोशल डिस्टेंस का पाठ पढ़ाया तो ग्रामीणों ओर पुलिस के बीच जमकर हंगामा हो गया|

रामपुरिया गांव में जब पुलिस एक अपराध की सूचना पर पहुंची तो वहां ग्रामीण लॉक डाउन का उल्लंघन कर रहे थे, जिस पर पुलिस ने उन्हें हटाने का प्रयास किया। इस पर ग्रामीण भड़क गए और पुलिस से ही अभद्रता शुरू कर दी। इस बीच पुलिस से झूमाझटकी भी हुई और ग्रामीणों ने उन्हें गांव से बाहर नहीं जाने दिया। करीब दो घंटे बाद जब खुजनेर से डायल 100 की टीम पहुंची तो जांच के बाद कार्रवाई के आश्वासन पर बमुश्किल ग्रामीणों के बीच में से पुलिस को निकालकर लाए।

जानकारी के अनुसार घटना रविवार की शाम करीब पांच बजे की है, जब पुलिस को एक सूचना मिली थी कि रामपुरिया गांव में शराब बेची जा रही है। जिसको लेकर करेड़ी में तैनात दो पुलिसकर्मी गांव में देखकर आए लेकिन उन्हें वहां कोई शराब बिकते हुए नहीं मिली। इसके बाद राजगढ़ डायल 100 की टीम भी वहां पहुंची। इस दौरान बड़ी संख्या में ग्रामीण वहां जमा हो गए थे। जिन्हें पुलिस ने हटाने का प्रयास किया। जिसके बाद यह पूरी घटना घटी। हालांकि बाद में वहां खुजनेर से डायल हंड्रेड की टीम पहुंची और ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि यदि पुलिस की गलती होगी तो जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी तब कहीं जाकर गाड़ी को गांव से निकलने दिया।

 

ग्रामीणों ने पुलिस को बनाया बंधक, अवैध शराब की सूचना पर पहुंचे थे जवान