राशन की धांधली! गेहूं में मिट्टी, कंकड़-पत्थर निकलने से हितग्राही आक्रोशित, दुकान सील

ग्रामीणों की शिकायत पर CMO और पटवारी ने राशन दुकान को सील कर दिया है।

शिवपुरी, शिवम पाण्डेय। जिले के खनियाधाना (Khaniadhana) में संचालित राशन दुकान पर की जा रही धांधली की शिकायत पर शुक्रवार को सीएमओ (CMO) और पटवारी ने दुकान को सील कर दिया है। दरअसल यहां दो माह की जगह एक माह का राशन बांटा गया तो लोगो ने इस मामले की शिकायत एसडीएम से लेकर कलेक्टर तक की। मौके पर पहुँच सीएमओ और पटवारी ने सेल्समैन के हितग्राहियों के बयान पर पंचनामा बनाया है। फिलहाल शिकायतों के आधार पर दुकान को सील कर दिया गया है।

राशन की धांधली! गेहूं में मिट्टी, कंकड़-पत्थर निकलने से हितग्राही आक्रोशित, दुकान सील

ये भी पढें- केंद्रीय मंत्री बोले- हैरिस उपराष्ट्रपति बन सकती हैं तो सोनिया गांधी पीएम क्यों नहीं?

जानकारी के अनुसार, सेल्समेन द्वारा हितग्राहियों को दो माह का राशन की जगह 1 माह का राशन बांटा जा रहा था, साथ ही सेल्समैन द्वारा काफी अनियमितताएं पाई गई जिसकी शिकायत अधिकारियों तक की गई लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। जिसको लेकर हितग्राहियों ने अपनी समस्या भाजपा मंडल अध्यक्ष सत्यप्रकाश भरदेलिया को बताई। मामले पर मंडल अध्यक्ष के द्वारा तत्काल शिवपुरी कलेक्टर को सूचना दी गई जिसके बाद कलेक्टर द्वारा एक विशेष दल गठित कर खनियाधाना शासकीय उचित मूल्य दुकान पर भेजा गया, जहां पर पीड़ित हितग्राहियों के बयानों के आधार पर पंचनामा तैयार किया गया और दुकान को सील किया गया

राशन की धांधली! गेहूं में मिट्टी, कंकड़-पत्थर निकलने से हितग्राही आक्रोशित, दुकान सील

मामले पर हितग्राहियों ने बताया कि संपूर्ण घोटाला समिति प्रबंधक के साथ अधिकारियों और कर्मचारियों की मिलीभगत से हुआ है। जहां कोरोना काल से लेकर अब तक का राशन की कालाबाजारी खुले बाजार में कर दी गई है। इस माह अब जो गेहूं लोगों को बांटा जा रहा है वो काफी दिनों पुराना है। गेहूं में कंकड़ मिट्टी पत्थर आदि की बड़ी मात्रा मिले हुए हैं। ऐसी विपद परिस्थिति में भी 2 माह की जगह एक माह का राशन दिया जा रहा है। एक तरफ तो पूरा देश बेरोजगारी जैसे हालातों से जूझ रहा है तो वहीं दूसरी ओर खनियाधाना में राशन की कालाबाजारी जारी है।

ये भी पढ़ें- खुशखबरी : अब किसानों को मिलेंगे 6000 की जगह 36000, यहां समझे पूरा गणित

हितग्राहियों ने लगाए गंभीर आरोप

शासकीय उचित मूल्य दुकान में पीडीएस के तहत गरीबों को वितरित किए जाने वाले गेंहू, चावल, शक्कर, नमक और नीले मिट्टी तेल को खुले बाजार में बेचने की शिकायत खाद्य विभाग को कई महीने से मिल रही है, लेकिन शिकायतों के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है जिससे संबंधित अधिकारियों की मिलीभगत होने का अनुमान लगाया जा रहा है। यहाँ मुख्यमंत्री शिवराज चौहान की महत्वपूर्ण योजना राशन वितरण सहित सीएम हेल्पलाइन की खुलेआम धज्जियां उडाई गई हैं।

खनियाधाना राशन डीलर की दुकान पर वितरित हो रहे गेहूं में मिट्टी कंकड़ पत्थर निकलने से ग्रामीण आक्रोशित हैं। परेशान ग्रामीणों ने खाद्य विभाग डीलर के खिलाफ शिकायत कर प्रदर्शन किया। जिसके बाद भाजपा मंडल अध्यक्ष की समझाइश पर ग्रामीण शांत हुए। खनियाधाना में मस्जिद के पास के निकट अनिल पचौरी की राशन की दुकान है। दुकान पर राशन कार्ड धारियों को मिल रहे गेहूं के कट्टों में मिट्टी, पतथर के टुकड़े, कंकड़ आदि निकल रहे हैं। डीलर उक्त मिलावटी गेहूं को तौलता है तो कार्डधारक लेने से इनकार करते हैं। इससे डीलर कार्डधारी के बीच विवाद की स्थिति पैदा हो रही है।

ये भी पढें- विवाद के चलते दो पेट्रोल पंप मालिकों के बीच खूनी संघर्ष, दोनो गंभीर घायल, ये है मामला

मामले पर भाजपा मंडल अध्यक्ष सत्य प्रकाश भरदेलिया का कहना है कि- आज पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर अपने कार्यालय पर बैठे हुए थे आज हमें शासकीय उचित मूल्य की दुकान पर जा कर राशन वितरण करवाना था जनता जनार्दन की सेवा करने का मौका हम लोगों को मिला था दुकान पर आकर समस्त हितग्राहियो से जो शिकायत की 2 महीने का राशन जो आया है उसमें से हमे एक महीने का राशन मिल रहा है पिछले महीने का राशन पूरा हड़प गए हैं हम ने तत्काल शिवपुरी कलेक्टर को शिकायत की उसके बाद टीम आकर जांच कर रही है।