MP में Corona के इलाज पर अब तक 724 करोड़ खर्च, निजी अस्पतालों को 163.81 करोड़ रुपये का भुगतान

रतलाम, सुशील खरे। रतलाम कोरोना संक्रमण रोकने को लेकर देश में पैसा पानी की तरह बह रहा है। अकेले मध्यप्रदेश में ही सरकार कोरोना संक्रमितों (corona infection) के इलाज पर अब तक 724 करोड़ रुपए खर्च कर चुकी है। इसमें 163 करोड़ रुपए से ज्यादा तो सिर्फ निजी अस्पतालों को ही बांटा गया है। निजी अस्पतालों (private hospital) को प्रति मरीज 40,440 रुपए प्रति के हिसाब से भुगतान किया गया है जबकि सरकारी अस्पतालों में प्रति मरीज खर्च का कोई आंकड़ा उपलब्ध नहीं है।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने दिया जवाब

कोरोना संक्रमित मरीजों पर प्रदेश की शिवराज सिंह सरकार द्वारा किए खर्च का खुलासा रतलाम जिले के कांग्रेस विधायकों हर्ष विजय गेहलोत (सैलाना) तथा मनोज चावला (आलोट) द्वारा विधानसभा सत्र के दौरान सवाल पूछे जाने पर हुआ है। विधायकद्वय के सवालों के जवाब प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने दिए। उन्होंने बताया अप्रैल 2020 से जनवरी 2021 तक कोरोना वायरस से संक्रमित 2 लाख 26 हजार 855 मरीजों को प्रदेश के सरकारी और सरकार द्वारा अनुबंधित निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया। कई मरीजों को घरों में भी आइसोलेट किया गया।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी के अनुसार अप्रैल 2020 से 31 जनवरी 2020 तक प्रदेश में कोरोना के इलाज (treatment) में कुल 724.09 करोड रुपए खर्च किए जा चुके हैं। अनुबंधित निजी अस्पतालों को 163.81 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया है। अनुबंधित निजी अस्पतालों में कोविड-19 के संक्रमित मरीजों के इलाज पर प्रति मरीज 40,440 रुपए खर्च आया। स्वास्थ्य मंत्री चौधरी के अनुसार सरकारी अस्पतालों में मरीजों पर हुए खर्च का ब्यौरा नहीं रखा जाता है इसलिए प्रति मरीज हुए खर्च के आंकड़े दे पाना संभव नहीं है।

प्रदेश में अब तक 2,98,572 का हुआ वैक्सीनेशन

एक सवाल के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने बताया 31 जनवरी 2021 तक 2 लाख 98 हजार 572 लोगों को टीका लगाया जा चुका है। वर्तमान में स्वास्थ्य सेवा प्रदाता शासकीय और गैर सास की, गृह मंत्रालय, अर्बन हाउसिंग मंत्रालय, रेवेन्यू तथा पंचायती राज संस्थाओं के फ्रंटलाइन वर्करों को टीका लगाने के दिशा-निर्देश प्राप्त हुए हैं। अतः उक्त चिन्हित को टीका लगाया जा रहा है।

रतलाम जिले के विधायकों ने पूछे थे कोरोना से जुड़े ये सवाल

हर्षविजय गहलोत का सवाल – अप्रैल 2020 से जनवरी 2021 तक कुल कितने कोरोना से प्रभावित मरीजों को शासकीय चिकित्सालय एवं शासन द्वारा अनुबंधित निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया तथा कितने मरीजों को घर पर ही आइसोलेट किया गया?
मरीजों के लिए शासकीय अस्पतालों में कितना खर्च हुआ?
प्रति मरीज कितना खर्च आया तथा निजी चिकित्सालयों को कितना भुगतान किया गया?
प्रति मरीज औसत कितना भुगतान हुआ?

मनोज चावला कांग्रेस विधायक, आलोट का सवाल- कोरोना मध्य में जनवरी 2021 तक कुल कितनी राशि खर्च की गई है?
प्रदेश की संपूर्ण जनता को कोरोना वैक्सीन का टीका शासन स्तर से लगाया जाएगा?
31 जनवरी 2021 तक कुल कितने को वैक्सीन का टीका लगाया जा चुका है तथा उसमें मंत्री विधायक सांसद और अन्य जन प्रतिनिधियों की संख्या कितनी है?