जयस नेताओं की गिरफ्तारी के विरोध में प्रदर्शन पर उतरे कार्यकर्ता, राष्ट्रपति के नाम दिया ज्ञापन

रतलाम में जयस कार्यकर्ताओं द्वारा कलेक्ट्रेट परिसर पहुंचकर विरोध प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा गया। इस दौरान सुरक्षा के हिसाब से पुलिस ने सारे इंतजाम पहले से कर लिए थे।

JAYS Leader: रतलाम (Ratlam) में सांसद और विधायक के काफिले का घेराव कर पत्थरबाजी करने के आरोप में जयस के 5 नेताओं को गिरफ्तार किया गया है। इस गिरफ्तारी के विरोध में आज कार्यकर्ताओं ने जमकर प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा है।

जयस के कुछ कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचे और यहां पर नेताओं पर दर्ज किए गए मुकदमे को वापस लेने की मांग करते हुए विरोध जताया और राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। जयस कार्यकर्ताओं द्वारा किए जाने वाले प्रदर्शन को देखते हुए एहतियात के तौर पर पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम कर लिए थे। महू नीमच रोड पर बैरिकेडिंग करते हुए पुलिस जवानों को तैनात भी किया गया था।

जयस कार्यकर्ताओं द्वारा बड़े प्रदर्शन का दावा किया गया था, जिसके चलते कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रखी गई थी। लेकिन जिला पंचायत उपाध्यक्ष केशूराम निनामा और कमलेश्वर डोडियार के साथ दर्जनभर कार्यकर्ता ही कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचे और विरोध दर्ज करवाया।

ये है मामला

बता दें कि बिरसा मुंडा जयंती कार्यक्रम में हिस्सा लेकर वापस लौट रहे सांसद गुमान सिंह डामोर और विधायक दिलीप मकवाना के काफिले को जयस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने रोक लिया था। इस दौरान काफिले पर पत्थरबाजी की गई थी, जिसमें विधायक की गाड़ी के कांच फूट गए थे और कलेक्टर के 2 सुरक्षाकर्मी घायल भी हुए थे। इसके बाद बिलपांक थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई गई थी और 50 से ज्यादा कार्यकर्ताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई थी और पांच नेताओं को गिरफ्तार किया गया था। इस मामले में जयस प्रदेश संरक्षक डॉ अभय ओहरी, विमलेश खराड़ी, डॉ आनंद राय, अनिल निनामा और गोपाल जेल में हैं।