कोरोना इफेक्ट: काम-धंधे बंद हुए तो छोटे व्यापारी बेचने लगे सब्जी

रतलाम।सुशील खरे।

रतलाम छोटा-मोटा काम कर घर चलाने वालों के लिए लॉकडाउन से परेशानी हो गई है। फुटकर काम करने वाले लोगों ने अपना व्यापार बदल लिया है।छोटे-मोटे व्यापार कर प्रतिदिन घर चलाने वाले के लिए रोजगार की समस्या खड़ी हो गई हैं। इनमें से कुछ युवाओं ने अपना व्यवसाय बदल लिया है। मनियारी, डीजे, पंक्चर जैसे छोटे-छोटे व्यापार कर अपनी जीविका चलाने वाले कुछ लोगों ने अपना व्यापार बदल लिया है।

दरअसल, लॉकडाउन में दी जाने वाली छूट में ये व्यापारी सब्जी, फल-फ्रूट की दुकान खोल ली है। दर्शन बैरागी सालों से मनियारी सामान बेचकर परिवार पालते हैं, लेकिन लॉकडाउन के चलते दुकान बंद होने से आजकल सब्जी की दुकान लगाकर घर खर्च चल रहे हैं। ऐसे ही रेडियो, डीजे सुधारक सुरेश माली ने बताया अभी डीजे व रिपेयरिंग का काम बंद है। घर चलाने के रोज पैसे की जरूरत होती है इसलिए अभी छूट में चार घंटे सब्जी बेचने से घर खर्च निकल जाता है। इसमें कोई बुराई नहीं है। नायन के रहने वाले रवि यादव वैसे तो छूट कर ठेकेदारी के काम करते हैं, लेकिन अभी सब काम बंद है। अभी लॉकडाउन में मिलने वाली छूट में प्याज का ठेला लगाकर घर खर्च चला रहे हैं। लॉकडाउन में घर चलाने के लिए बदल लिया अपना व्यवसाय।