लोकायुक्त का शिकंजा, जिला शिक्षा अधिकारी को रिश्वत लेते रंगेहाथों पकड़ा

District-Education-Officer-caught-during-taking-bribe-in-ratlam-

रतलाम। रिश्वतखोर कर्मचारी अधिकारियों के खिलाफ लगातार लोकायुक्त द्वारा शिकंजा कसा जा रहा, इसके बावजूद हर छोटे से बड़े कामों के लिए शासकीय कर्मी रिश्वत लेने से बाज नहीं आ रहे हैं| ताजा मामला रतलाम से सामने आया है, जहां जिला शिक्षा अधिकारी को उनके ही दफ्तर में रिश्वत लेते रंगेहाथों पकड़ा गया, लोकायुक्त ने जैसे ही उन्हें रिश्वत के साथ पकड़ा उनके हाथों  और चेहरे से रंग उतर गया| 

जानकारी के मुताबिक लोकायुक्त पुलिस उज्जैन ने सोमवार को छापामार करवाई करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी रामेश्वर चौहान को उनके ही दफ्तर में स्कूल संचालक से 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया। लोकायुक्त की इस कार्रवाई से दफ्तर में हड़कंप मच गया| अधिकारी पर आरोप है कि उन्होंने जावरा तहसील के ग्राम बन्नााखेड़ा स्थित निजी स्कूल की मान्यता रद्द करने की धमकी देकर रिश्वत की मांग की थी। इससे पहले वे पचास हजार वसूल चुके थे| जिससे परेशान होकर बन्नााखेड़ा स्थित सांई पब्लिक स्कूल के संचालक सुखदेव पांचाल ने लोकायुक्त को शिकायत की थी| 

लोकायुक्त एसपी उज्जैन को शिकायत की गई शिकायत में बताया कि जिला शिक्षा अधिकारी चौहान स्कूल की मान्यता रद्द करने की धमकी देकर रिश्वत की डिमांड कर रहा है और पहले ही पचास हजार वसूल चुका है| तीस हजार रुपए और देने पर बात तय हुई| जिसके बाद लोकायुक्त की टीम अधिकारी के दफ्तर पहुंची और दोपहर में जिला शिक्षा अधिकारी चौहान को पांचाल ने 15 हजार रुपए दिए, टीम ने धावा बोल दिया|