शहीदों की याद में किया गया रक्तदान, युवाओं ने दिया 31 यूनिट ब्लड, आयोजक बोले रक्तदान ही महादान

रतलाम/सुशील खरे

जय मां अंबे शक्ति सामाजिक सेवा समिति, सागोद से जुड़े युवाओं ने गुरुवार को मानव सेवा समिति ब्लड बैंक में रक्तदान शिविर लगाया। शिविर में शहीदों की याद में युवाओं ने 31 यूनिट रक्तदान किया। आयोजनकर्ताओं ने इसे महादान कहा।

शिविर का आयोजन लोकमान्य तिलक व चंद्रशेखर आजाद जयंती के उपलक्ष्य में किया गया था। अध्यक्ष मोहन मुरलीवाला, संस्थापक ज्ञानमल सिंगावत, पूर्व अध्यक्ष सुरेश अग्रवाल, डॉ. इंदरमल मेहता ने कार्यक्रम की शुरुआत की। संचालन करते हुए पूर्व ब्लड बैंक प्रभारी गोविंद काकानी ने कहा रक्तदान महादान है। इससे किसी का जीवन बचता है।

आज जब पूरा देश संकट से जूझ रहा है, ऐसे में लोग रक्तदान के लिए पीछे नहीं हट रहे हैं, ये बड़ी बात है। रक्त की बहुत जरूरत है। युवाओं को आगे आना चाहिए। आज भी कुछ लोग ऐसे हैं, जिनमें रक्तदान को लेकर भ्रम बना हुआ है।

इन्होंने रक्तदान, दिए प्रशस्ति पत्र

रक्तदान करने वालों को प्रशस्ति-पत्र व स्मृति चिन्ह भी दिए गए। प्रदीप शर्मा, घनश्याम पाटीदार, शुभम पाटीदार, ओमप्रकाश पाटीदार, नरेंद्र पंचवारिया, घनश्याम पूनमचंद पाटीदार, मनोज पाटीदार रविशंकर पाटीदार, योगेश पाटीदार, प्रभुलाल पाटीदार आदि ने रक्तदान किया।

शिविर का आयोजन लोकमान्य तिलक व चंद्रशेखर आजाद जयंती के उपलक्ष्य में किया गया था। अध्यक्ष मोहन मुरलीवाला, संस्थापक ज्ञानमल सिंगावत, पूर्व अध्यक्ष सुरेश अग्रवाल, निर्मल कटारिया, डॉ. इंदरमल मेहता ने कार्यक्रम की शुरुआत की।

संचालन करते हुए पूर्व ब्लड बैंक प्रभारी गोविंद काकानी ने कहा रक्तदान महादान है। इससे किसी का जीवन बचता है। आज जब पूरा देश संकट से जूझ रहा है, ऐसे में लोग रक्तदान के लिए पीछे नहीं हट रहे हैं, ये बड़ी बात है। रक्त की बहुत जरूरत है। युवाओं को आगे आना चाहिए। आज भी कुछ लोग ऐसे हैं, जिनमें रक्तदान को लेकर भ्रम बना हुआ है।

साइन ऑफ़-संस्था अध्यक्ष डॉ. प्रकाश शर्मा ने संस्था की गतिविधियों के बारे में बताया। उन्होंने कोरोना महामारी मैं संस्था द्वारा भोजन वितरण, मास्क वितरण व जनता को जागृत करने के लिए किए गए कार्यक्रम की जानकारी दी।

समिति संरक्षक विजय पाटीदार ने कहा देश की आजादी में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले भारत माता के वीर सपूत लोकमान्य तिलक व चंद्रशेखर आजाद को याद कर रक्तदान किया है। इससे खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। उन्होंने आजादी में जो भूमिका निभाई है, उसे सदैव याद रखना चाहिए। मानव सेवा समिति अध्यक्ष मोहन मुरलीवाला ने सभी से समय-समय पर रक्तदान करने की अपील की।रक्तदान करने के बाद सभी रक्तदाताओं को स्मृति चिन्ह व प्रशस्ति पत्र दिए गए।