रतलाम मेडिकल कालेज में रैगिंग का मामला, दोषी 6 छात्र कालेज और हॉस्टल से निष्कासित

रतलाम, डेस्क रिपोर्ट। रतलाम मेडिकल कॉलेज में जूनियर छात्रों की रैगिंग करने के मामले में कॉलेज प्रबंधन ने बड़ी कार्रवाई की है कालेज प्रबंधन ने मामला सामने आने के बाद जांच करवाई जिसमें छात्रों को दोषी पाया गया, जिसके बाद 6 सीनियर छात्रों को कॉलेज और हॉस्टल से 1 साल के लिए निष्कासित कर दिया है। साथ ही औद्योगिक पुलिस थाने में दोषी पाए गए 6 छात्रों के विरुद्ध मारपीट और रैगिंग लेने पर एफआईआर भी दर्ज कराई गई है। कालेज के जूनियर छात्रों से रैगिंग के वीडियो के आधार पर 10 छात्रों के नाम सामने आए है। जिनमे 6 छात्रों की पहचान होने पर कॉलेज प्रबंधन ने यह कार्रवाई की है। कालेज प्रबंधन ने रतलाम के औद्योगिक थाने में करण मेडा, सावन कलमे,मुकेश निनामा, पियूष पाटीदार, निलेश पाटीदार और दीपक निगवाल पर रैगिंग और मारपीट के मामले में अपराध प्रकरण दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें… भोपाल के पिता-पुत्र समेत एक नाबालिग रायसेन के हलाली डेम में डूबे

शासकीय मेडिकल कॉलेज रतलाम के हॉस्टल में जूनियर्स की रैगिंग का सनसनीखेज मामला सामने आया था। वायरल वीडियो में आधा दर्जन से ज्यादा जूनियर छात्रों को लाइन में खड़ा कर सीनियर उनकी रैगिंग ले रहे हैं। वीडियो में सीनियर छात्र जूनियर छात्रों को थप्पड़ मारते हुए भी नजर आ रहे हैं। शिकायत पर मौके पर वॉर्डन डॉ अनुराग जैन पहुंचे तो कुछ छात्रों ने अनुशासनहीनता करते हुए उन पर शराब की बोतलें भी फेंकी। इस पुरे मामले में रैंगिंग का वीडियो वायरल होने पर कालेज प्रबंधन को शिकायत हुई जिस पर अनुशासन कमेटी ने दोषी छात्रों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की अनुशंसा की थी। वार्डन डॉ अनुराग जैन की शिकायत पर  पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज हुई है। एंटी रैंगिंग कमेटी ने भी कुछ शराब की बोतल हॉस्टल से बरामद की है। मेडिकल कॉलेज के हॉस्टल में रैगिंग का वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें 2020 बैच के कुछ स्टूडेंट्स जूनियर्स को चांटे मारते दिखाई दे रहे हैं। लाइन में खड़ाकर जूनियर के साथ मारपीट की गई। कमेटी के पास यह वीडियो भी पहुंच गया है। जिसके बाद इस मामलें की गंभीरता को देखते हुए जांच कमेटी गठित की गई, फिलहाल इस मामले में वायरल वीडियो के बाद यह कार्रवाई की गई जबकि पीड़ित जूनियर्स ने डर के मारे शिकायत नहीं की।