जावरा/रतलाम, सुशील खरे।  जावरा (Jaora) से बीजेपी के विधायक राजेंद्र पांडे (rajendra pandey) की कोरोना (corona) की दूसरी रिपोर्ट नेगेटिव आई है। दरअसल शुक्रवार की रात उन्हें कोरोना संक्रमित (corona positive) बताया गया था। जिसके बाद विधायक ने दावा किया था कि उन्हें कोरोना नही है बल्कि यह स्वास्थ्य विभाग के द्वारा रचा गया षङयंत्र है जो विधानसभा में उनके द्वारा स्वास्थ्य विभाग के बारे में उठाए गए भ्रष्टाचार के सवालों को रोकने के लिए किया गया एक प्रयास है।

Read More: Ratlam News: भाजपा विधायक बोले- विधानसभा में ना उठाऊं सवाल, इसलिए रचा गया षड़यंत्र

Rajendra Pandeyजावरा विधायक ने यह भी कहा था कि उनके द्वारा समय-समय पर स्वास्थ्य विभाग के द्वारा कोरोना काल मे किये गए भ्रष्टाचार की शिकायत की जाती रही है और व्यापक रूप से इस विधानसभा में उन्होंने लगभग 64 सवाल लगाएं हैं जो कोरोना काल में हुए स्वास्थ्य विभाग के भ्रष्टाचार को लेकर हैं। इसी वजह से उनको कोरोना पीङित बता दिया गया है। विधायक के इस दावे के बाद में पूरे प्रदेश में हड़कंप मच गया था और एक बार फिर रतलाम के मेडिकल कॉलेज में उनका कोरोना टेस्ट किया गया।

Read More: बचाव दल का खोज अभियान अभी भी जारी, अब तक कुल 62 शव हुए बरामद

कोरोना की रिपोर्ट के बारे में रविवार को डीन डॉ शशि गांधी ने बताया कि यह नेगेटिव आई है, हालांकि पहले की रिपोर्ट पॉजिटिव कैसे आई इसके बारे में उन्होंने कोरोना के वायरस की सेंसिटिविटी और जांच करने वाली किट की कोल्ड चैन मेंटेन ना होने जैसे तकनीकी कारण के ना दिए लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि आखिरकार इस गड़बड़ झाले के पीछे है कौन और विधायक के दावे कितने सच हैं।