दुष्कर्म की सजा काट रहे कैदी के फ़रार होने के आठ दिन बाद जेल अधीक्षक निलंबित

रतलाम| सुशील खरे| विगत दिनोें जिला जेल में सजा काट रहे कैदी के भागने वाले मामले में जेल अधीक्षक द्वारा गलत तथ्य प्रस्तुत करने एवं जानकारी नहीं देने के आरोप में आज जेल अधीक्षक राजाराम डांगी को डीजी जेल ने निलंबित कर दिया है।

जानकारी के अनुसार केन्द्रीय जेल अधीक्षक अखिलेश तोमर ने जांच कर एक प्रतिवेदन में बताया गया कि बंदी के फरार होने के संबंध में वास्तविक तथ्यों से श्री डांगी द्वारा जेल मुख्यालय को सूचित नहीं किया गया तथा घटना के संबंध में भ्रामक जानकारी जेल मुख्यालय को प्रेषित की गई थी। गलत तथ्य प्रस्तुत करने एवं जानकारी नहीं देने के आरोप में आज रतलाम जेल अधीक्षक राजाराम डांगी को डीजी जेल संजय चौधरी ने निलंबित कर दिया।

बाजना निवासी गेंदालाल कटारिया को वर्ष 2015 से न्यायालय के आदेश के बाद लैंगिक अपराधों के चलते 10 वर्ष का कारावास दिया गया था। 26 जून शुक्रवार सुबह उक्त आरोपी ने जेल के कर्मचारियों को सीने में दर्द और घबराहट होने की बात कही जिसके बाद आरोपी गेंदालाल को जांच हेतु जिला अस्पताल ले जाया गया। इस दौरान पर्ची बनवाने के समय आरोपी पुलिसकर्मी को चकमा देकर फरार हो गया। घटना के 8 दिन के भीतर जेल अधीक्षक राजाराम डांगी द्वारा गलत तथ्य प्रस्तुत करने एवं जानकारी नहीं देने के आरोप में आज शनिवार को जेल अधीक्षक को मप्र जेल के डीजीपी संजय चौधरी ने निलंबित कर दिया है।