रतलाम : कोरोना से निपटने के लिए ग्रामीणों ने घरों में लगाए ताले, पूरे गांव में किया अमृत का छिड़काव

रतलाम के आलोट जनपद पंचायत के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना से निपटने के लिए ग्रामीणों ने घरों में ताले लगाकर पूरे गांव में किया अमृत का छिड़काव किया। ग्रामीणों ने हनुमान मंदिर में अभिषेक कर कोरोना से मुक्ति की प्रार्थना की।

रतलाम, सुशील खरे। कोरोना (Covid-19) की दूसरी लहर काल बनकर आई है। इस महामारी से निपटने के लिए लोग क्या-क्या जतन नहीं कर रहे हैं। एक तरफ वैज्ञानिक और सरकार अपने जुगाड़ में जुटी दिखाई दे रही है तो दूसरी तरफ ग्रामीण भी कोई विज्ञानिक से पीछे नहीं हट रहे हैं वह भी अपने स्तर पर भगवान की आस्था दिल में रखकर इस महामारी से निपटने के लिए नए-नए जोड़-तोड़ में लगे हुए हैं। जहां रतलाम के आलोट जनपद पंचायत के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों लोगों के दिमाग में कोराना को लेकर कितनी है दहशत है कि लोग अपने घरों पर ताला लगाकर पूजन करने के लिए जंगल में चले गए हैं।

यह भी पढ़ें:-कृषि मंत्री के निर्देश- गाँव में 6 से अधिक संक्रमित मिलने पर घोषित करें हॉट स्पॉट

आलोट के एक गांव में लोगों ने सुबह से ही अपने घरों पर ताले लगा लिया और पूरे गांव में सन्नाटा छा गया। सभी लोग अपने घरों से बाहर निकल कर अपने खेत पर और जंगल में चले गए और वहीं ही भोजन बनाया। ग्रामीणों ने दिन भर गांव के हनुमान मंदिर पर इस महामारी को निपटने के लिए हवन पूजन व अभिषेक किया और पूरे गांव में बालाजी के मंदिर से लाए हुए अमृत को गांव में छिड़काव किया। गांव वालों का अब सरकार और डॉक्टरों से भरोसा उठ गया है इसी को लेकर यह अपना बचाव खुद करने में लग गए हैं।