rupees

रीवा, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में भ्रष्टाचार (Corruption) का बड़ा मामला सामने आया है। जहां छोटी दरगाह वर्क कमेटी के अध्यक्ष द्वारा शिकायत ना करने की एवज में 1 लाख रुपए की मांग की गई थी। जिसके बाद लोकायुक्त पुलिस ने कार्रवाई करते हुए अध्यक्ष इरफान खान को रिश्वत (bribe) लेते रंगे हाथ ट्रैप किया है।

दरअसल मामला रीवा का है। जहां बीते दिनों शिकायतकर्ता मोहम्मद अनस द्वारा कहा गया था कि उन्हें पद से हटाने के लिए छोटी दरगाह वर्क कमेटी के अध्यक्ष इरफान खान द्वारा उनकी शिकायत न करने की बात कह कर उनसे 5 लाख रुपए की मांग की गई थी।

Read More: बढ़ रहा डेल्टा वेरिएंट से संक्रमण का खतरा, CMHO सहित 20 पॉजीटिव, सतर्क स्वास्थ्य विभाग

लोकायुक्त द्वारा जांच की कार्रवाई की गई। जांच में शिकायत को सही पाया जाने के बाद डीएसपी प्रवीण सिंह परिहार द्वारा 16 सदस्य टीम का गठन किया गया। वहीं कार्रवाई के लिए निर्देश दिए गए मंगलवार की सुबह स्थानीय कंट्रोल रूम में इरफान खान को रिश्वत की रकम देने के लिए शिकायतकर्ता मोहम्मद अनस को भेजा गया। इस दौरान जब इरफान खान एक लाख रुपए की रिश्वत ले रहे थे। उसी समय लोकायुक्त पुलिस ने उन्हें रंगे हाथ दबोच लिया।

मामले में रीवा लोकायुक्त एसपी राजेंद्र वर्मा का कहना है कि शिकायत प्राप्त हुई थी। जिसकी प्रमाणिकता होने के बाद कार्रवाई की गई है संबंधित को एक लाख रुपए के साथ ट्रैप किया गया है। वहीं उसके विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला पंजीकृत किया गया है।