मध्यप्रदेश : भाजपा विधायक बोले “तू पैसे खाता है”, जनपद सीईओ बोले “तूने पाल रखे दलाल”

रीवा, डेस्क रिपोर्ट। रीवा में सिरमौर जनपद सीईओ एसके मिश्रा के साथ मारपीट का मामला सामने आया है, उनके साथ कुछ लोगों ने जमकर मारपीट कर दी। इस मामलें ने तूल पकड़ लिया है दरअसल मंगलवार सुबह ही जनपद सीईओ को भाजपा विधायक के पी त्रिपाठी ने फोन पर ही धमकाया था, दोनों के बीच जमकर बहस हुई थी, जिसके बाद विधायक ने जनपद सीईओ को देख लेने की धमकी दी थी, घटना के बारे में बताया जा रहा है कि बहस के बाद  मंगलवार दोपहर को ही एस के मिश्रा सेमरिया क्षेत्र से बैठक कर मुख्यालय लौट रहे थे। तभी रास्ते में पुरवा फॉल के पास घात लगाकर बैठे आधा दर्जन बदमाशों ने वाहन रोक कर उनकी जमकर पिटाई कर दी। बदमाशों ने एस के मिश्रा को बुरी तरह पीटा और फिर मरा समझ कर कचरे के ढेर में फेंक कर भाग गए। मौके पर मौजूद ड्राइवर ने पुलिस को घटना की सूचना दी, जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने सीईओ को अस्पताल में भर्ती कराया।

यह भी पढ़ें… पंचायत सचिव व दबंगों ने नहीं फहराने दिया दलित सरपंच को झंडा

पुलिस के अनुसार मंगलवार दोपहर सीईओ एस के मिश्रा बसामन मामा स्थित गौशाला में बैठक लेने गए थे। एस के मिश्रा बैठक से लौट रहे थे कि तभी रास्ते में कुछ बदमाशों ने उनकी गाड़ी के सामने आकर उन्हे रोका और फिर उन्हे गाड़ी से उतारकर जमकर पीटा, आरोपियों ने गाड़ी में तोडफोड भी की, फिर सीईओ पर टूट पड़े। पिटाई करने के बाद आरोपी एस के मिश्रा को मरा हुआ समझकर किनारे बने कचरे के डिब्बे में फेंककर चले गए, जिसके बाद घबराए उनके ड्राइवर ने डायल 100 को सूचना दी। इसके बाद पुलिस हरकत में आ गई। सेमरिया और सिरमौर थाना समेत आसपास के थानों का बल घटनास्थल पर भेजा। आरोपियों की खोजबीन के लिए साइबर सेल की मदद ली जा रही है। मुख्य मार्गों में लगे CCTV के फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें… भाजपा ने भुलाया अटल जी को, भतीजी बोलीं, इसे पूरे हिंदुस्तान को बताओ, वीडियो वायरल   

इस मामलें में चौकाने वाला पहलू यह है कि एस के मिश्रा की मंगलवार यानि आज सुबह ही विधायक केपी त्रिपाठी के साथ फोन पर जमकर बहस हुई थी, विधायक ने जनपद सीईओ पर अपने आदमियों को परेशान करने का आरोप लगाया था जिसके बाद सीईओ ने इसे नकारते हुए विधायक पर ही दलाली के आरोप लगा दिए थे फिलहाल इस घटना के बाद पुलिस पल अस्पताल में तैनात किया गया है।

मध्यप्रदेश : भाजपा विधायक बोले "तू पैसे खाता है", जनपद सीईओ बोले "तूने पाल रखे दलाल"