शहीद दीपक सिंह को अंतिम विदाई देने उमड़ा जनसैलाब, पत्नी को सरकारी नौकरी, गांव में बनेगी प्रतिमा

रीवा| चीन (China) के साथ हिंसक झड़प में शहीद हुए रीवा के लाल दीपक सिंह गहरवार (Deepak Singh Gaharwar) को नम आंखों से अंतिम विदाई दी गई। शहीद को अंतिम विदाई (last farewell) देने हजारों की संख्या में लोग पहुंचे और ‘देश का बेटा कैसा हो दीपक भैया जैसा हो’ के नारे गूंजते रहे| मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा (VD Sharma) भी शहीद के गांव पहुंचे| सीएम ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा के साथ वीर को अंतिम सफर में कंधा दिया। राजकीय सम्मान और सेना के बैंड की धुनों के साथ शहीद दीपक सिंह का अंतिम संस्कार किया गया।

मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार की ओर से हमने फैसला किया है कि शहीद दीपक सिंह जी के परिजनों को एक करोड़ रुपये सम्मान निधि दी जायेगी। उनकी धर्मपत्नी को शासकीय सेवा में लिया जायेगा। एक मार्ग का नामकरण उनके नाम पर होगा और गांव में उनकी प्रतिमा भी स्थापित की जायेगी।

सीएम ने कहा गलवान वैली में शहीद हुए रीवा के वीर सपूत दीपक सिंह के चरणों में श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। आज रीवा का यह फरेंदा गांव धन्य हो गया। इस गांव में एक ऐसे सपूत दीपक सिंह जी ने जन्म लिया, जिन्होंने भारत माता की अखण्डता और सम्प्रभुता की रक्षा के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान कर दिया। दुश्मनों को मारकर वीर दीपक सिंह जी बलिदान हुए, ऐसे सपूतों के रहते हुए भारत माता की ओर कोई आंख उठाकर नहीं देख सकता है। हमें ऐसे अमर शहीद पर गर्व है। मैं उस मां और पिता को प्रणाम करता हूं, जिन्होंने उन्हें जन्म दिया।