कांग्रेस ने दो महीने में प्रदेश को शांति के टापू से अपराध का महाद्वीप बना दिया : शिवराज

shivraj-raised-question-on-kamalnath-sarkar-for-killed-twins-in-banda

रीवा।

 दो जुड़वा भाईयों की यूपी में निर्मम हत्या के बाद चित्रकूट मे तनाव के हालात हो गए है।लोग सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे है, आगजनी और पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई, मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। पुलिस प्रशासन लगातार हालत को काबू करने में लगा हुआ है। इसी बीच पूर्व मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने रीवा में पत्रकार वार्ता आयोजित कर सरकार पर जमकर घेराव किया है और कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए है। प्रदेश की कमलनाथ सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए शिवराज ने कहा है कि  कांग्रेस ने दो महीने में प्रदेश को शांति के टापू से अपराध का महादीप बना दिया।

प्रेसवार्ता से पहले शिवराज ने दोनों जुड़वा बच्चो श्रेयांश और प्रियांश को श्रद्धांजलि अर्पित की और सरकार को जमकर हमला बोला ।शिवराज ने कहा कि मध्यप्रदेश शांति का टापू था,आज अपराध का महाद्वीप बन गया है।आज मन में ऐसी पीड़ा है कि शब्दों में बयान नहीं कर सकता।चित्रकूट में पिछले दिनों दो मासूम बेटे श्रेयांश और प्रियांश का दिन-दहाड़े अपहरण हुआ।उनके सुरक्षित वापस लौट आने की अपेक्षा थी लेकिन खबर ऐसी मिली कि मन वेदना से भर गया। उम्मीद की जा रही थी सरकार और प्रशासन बच्चों को वापस ले आएगा, लेकिन सरकार असफल रही। कांग्रेस ने दो महीने में प्रदेश को शांति के टापू से अपराध का महादीप बना दिया।सिर्फ आरोप लगाने के लिए नही कह रहा हूं लेकिन ये प्रदेश की सुरक्षा का सवाल है।मुख्यमंत्री कमलनाथ को नसीहत देते हुए  शिवराज ने कहा कि प्रदेश में प्रशासनिक अक्षमताएं है। कमलनाथ जी खुद संभले और प्रदेश को भी संभाले । प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्थ हो चुकी है।

ट्रांसफर में उलझी हुई है सरकार

शिवराज ने आगे कहा कि श्रेयांश और प्रियांश वे फूल थे जो खिलने के पहले ही डाल से तोड़ लिए गए। केवल शाब्दिक सहानुभूति से काम नहीं चलेगा। प्रदेश में आगे कानून व्यवस्था की स्थिति दुरुस्त हो, इसके लिए सरकार को कड़े कदम उठाने होंगे। हम चिंतित है कि सरकार प्रदेश की सुरक्षा करने की बजाए रोज तबादले कर रही है, प्रदेश में आए दिन तबादले हो रहे है, उद्योग की तरह तबादले पर तबादले किए जा रहे है, दलाल सक्रिय है, कर्मचारियों का हड़कंप मचा हुआ है इससे पुलिस की कमर टूट रही है, मनो���ल टूट रहा है, आए दिन बडी और लंबी तबादलों की लिस्ट जारी हो रही है, किसी को खबर नही कब क्या हो जाए, अधिकारियो में डर भरा हुआ है कि कब ट्रांसफर हो जाए। 

दिग्विजय पर बोला हमला

वही इशारों ही इशारों मे दिग्विजय पर आरोप लगाते हुए शिवराज ने कहा कि प्रदेश ऐसे नही चलता,  बाहरी लोग मंत्रियों को डांट रहे है, प्रशासनिक निर्णयों में खुले आम हस्तक्षेप किया जा रहा है । “मिस्टर बंटाधार रिटर्न्स” हो गया है ।आखिर सीएम के पीछे सुपर सीएम कौन है सबको पता है।दो महिने में प्रदेश की जो हालत हुई है उसकी कल्पना करना भी संभव नही है। शिवराज ने कहा कि कई बार सिर्फ मन को अफसोस नही होता आत्मा भी रोती है। मैं कहने के लिए सिर्फ नही कह रहा हूं, यहां सवाल प्रदेश की जनता का सवाल है। किसानों की हालत सबसे छुपी नही है। किसान परेशान हो रहा है, कर्मचारियों में हाहाकार मचा हुआ है लोग सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे है, अगर जल्द हालातों में सुधार ना हुआ तो हमें सड़कों पर उतरना होगा।

गौरतलब है कि यहां से 12 फरवरी को अगवा किए गए दो जुड़वां बच्चों शिवम और देवांग की शनिवार को हत्या कर दी गई। दोनों के शव उत्तरप्रदेश के बांदा में नदी के पास मिले। बताया जा रहा है कि अपहरणकर्ताओं ने 20 लाख की फिरौती मिलने के बाद भी बच्चों की हत्या कर दी।  दोनों बच्चों की उम्र 5 साल थी। वे छुट्टी के बाद चित्रकूट के स्कूल से सतना वापस आ रहे थे। उस दौरान बदमाशों ने स्कूल बस से अगवा कर लिया। पूरी वारदात बस में लगे सीसीटीवी में रिकॉर्ड हुई थी। फुटेज में बदमाश रिवॉल्वर दिखाकर बच्चों का अपहरण करते नजर आए थे। पुलिस के मुताबिक- बदमाशों ने पहले बंदूक दिखाकर बस को रुकवाया और फिर दोनों बच्चों को बस से उठाकर ले गए। बच्चे चित्रकूट के सद्गुरु ट्रस्ट के एसपीएस स्कूल में पढ़ते थे।