सड़क हादसा: कुंभ स्नान के लिए प्रयागराज गए मप्र के 6 लोगों की मौत, CM ने जताया शोक

big-road-accident-in-koshambi-up-6-person-killed-from-sagar-

सागर|प्रयागराज| महाकुंभ में स्नान के लिए प्रयागराज जा रहे मध्य प्रदेश के श्रद्धालुओं की कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई| इस दर्दनाक हादसे में कार में सवार सभी 6 लोगों की मौत हो गई| यह सभी मध्य प्रदेश के सागर जिले के निवासी थे| मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस दुर्घटना पर शोक जताया है|

प्राथमिक जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को उत्तरप्रदेश के कौशांबी. जिले के अजुहा पुलिस चौकी के पास नेशनल हाईवे 2 पर कुम्भ में स्नान के लिए जा रहे श्रद्धालुओं की तेज रफ्तार कार अचानक पंचर हो जाने पर अनियंत्रित होकर ट्रेलर से जा टकरा गई। टक्कर इतनी जबरदस्त थी की कार के के परखच्चे उड़ गए। उसमें सवार सभी 6 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद नेशनल हाईवे पर जाम लग गया। मौके पर पहुंची सैनी पुलिस ने कार को काट कर शव को बाहर निकाला।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने एंबुलेंस की मदद से सभी को जिला अस्‍पताल ले गई। जिला अस्‍पताल में चिकत्‍सकों ने सभी को मृत घोषित कर दिया। मृतकों के पास मिले मोबाइल नंबर के जरिए प्रयागराज में रहे कुछ रिश्तेदारों से पुलिस ने बातचीत की। वहीं कार के नंबर को ट्रेस किया गया तो पता चला कि गाड़ी रामसहाय द्विवेदी निवासी खैरई सागर मध्य प्रदेश की है। मृतकों में महीप सिंह लोधी पुत्र मलखान सिंह लोधी निवासी मरखेड़ा, बड़ौरिया मालथौन, सागर मध्‍य प्रदेश और दूसरे की पहचान राममोहन पुत्र सीताराम निवासी जेल रोड खुरई सागर के रूप में हुई है।  कार नंबर एमपी 15 सीए 3908 है|

कार में कथा वाचक रामसहाय द्विवेदी मंजुल महाराज, भांजे राममोहन गौतम, सत्यम गौतम, महेन्द्र तिवारी बामौरी खाड़ेरा, महीप सिंह लोधी मढ़खेड़ा, अजुर्न तिवारी गुदावल सवार थे। सभी की हादसे में मौत हो गई। तहसीलदार संजय जैन ने बताया कि मौके से राममोहन का आधार कार्ड मिला है। जिसके आधार पर 6 लोगों की पुष्टि हो चुकी है। राममोहन गौतम के पिता एवं परिवार पहले से इलाहाबाद में हैं। मृतक महेंद्र तिवारी के मोबाइल नंबर पर यूपी पुलिस से बात हो रही है।

 

सीएम ने जताया दुःख 

प्रयागराज कुंभ स्नान के लिये जा रहे प्रदेश के सागर के 6 लोगों की एक वाहन दुर्घटना में निधन का समाचार बेहद दुखद है। पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ। ईश्वर मृत आत्माओं को अपने चरणो में स्थान व पीछे परिजनो को दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।