Sagar News : सागर में गंगा “जज”,इस तरह हुआ झगड़े का निपटारा

पुलिस की बात मानकर दोनों पक्षों ने राम मंदिर में पुजारी की उपस्थिति में गंगाजल सिर पर रखा और अपनी गलती स्वीकार करते हुए राजीनामा कर लिया।

सागर डेस्क रिपोर्ट। सागर में गंगाजल ने एक मामले में जज की भूमिका निभाई। । दो पक्षों के बीच मारपीट का मामला मंदिर में गंगाजल के सामने सच बोल कर और गलती मान कर किया गया। पुलिस ने भी मामले में मध्यस्थता की । सागर के बंडा थाना क्षेत्र के बूढाखेड़ा गांव के रहने वाले पुष्पेंद्र सिंह लोधी का आरोप था कि सरपंच के पति अमोल सिंह ने उसके साथ मारपीट की है। इतना ही नही,पुष्पेन्द्र ने अमोल पर उसका नाम प्रधानमंत्री आवास की लिस्ट से काटने का आरोप भी लगाया। वही अमोल सिंह ने भी पुष्पेंद्र सिंह पर बार-बार झूठी शिकायत करने का आरोप लगाया था।

यह भी पढ़ें …Gold Silver Rate : सोना चमका, नहीं बदले चांदी के भाव

रविवार को दोनों ही अपनी अपनी शिकायत लेकर बंडा के पुलिस स्टेशन पहुंचे। इस पर पुलिस ने दोनों पक्षों पर कार्रवाई करने की बात कही और सलाह दी कि आपसी सहमति से मामले को निपटा लें। पुलिस की बात मानकर दोनों पक्षों ने राम मंदिर में पुजारी की उपस्थिति में गंगाजल सिर पर रखा और अपनी गलती स्वीकार करते हुए राजीनामा कर लिया।
थाना प्रभारी मानस द्विवेदी का कहना है कि दोनों के बीच विवाद की स्थिति बनी थी और पुलिस ने दोनों पर ही प्रतिबंधात्मक कार्यवाही करते हुए दोनों को थाने में बुलाया था। पुलिस की सलाह मानकर दोनों पक्षों ने आपसी सहमति से मंदिर में गलती स्वीकारी और राजीनामा कर लिया।