कर्ज और कम उपज के सदमे में किसान ने की खुदकुशी, लोगों ने शव रखकर किया प्रदर्शन

सागर। अतिवृष्टि से हुए फसलों के नुकसान एवं कर्ज से परेशान होकर एक किसान ने आत्महत्या कर ली| किसान की मौत के बाद भाजपा ने सेंकड़ो लोगों के साथ शव को रखकर प्रदर्शन किया और मुआवजे की मांग की| मामला जिले के बीना का है जहां दीपावली की शाम सुभाष वार्ड निवासी एक किसान युवक ने कीटनाशक पी लिया। युवक को यहां अस्पताल से सागर रेफर किया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई।

बीना के सुभाष वार्ड में कमलचंद पिता तुलसीराम ग्वाल 42 वर्ष ने रविवार की शाम अतिवृष्टि से हुए फसलों के नुकसान एवं कर्ज से परेशान होकर जहर खाकर आत्महत्या कर ली। अगले दिन परिजनों ने गांधी तिराहे पर युवक का शव रखकर जाम लगा दिया। भाजपा ने परिजनों के साथ मिलकर 20 लाख रुपए मदद की मांग की। एसडीएम के आश्‍वासन पर जाम खत्म कर शव का अंतिम संस्कार किया गया। कांग्रेस सरकार के द्वारा समय पर मुआवजा नहीं देने के चलते भाजपा ने विधायक महेश राय के नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ गांधी तिराहे पर किसान का शव रखकर चक्का जाम किया और जमकर प्रदर्शन किया साथ ही कांग्रेस सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

कमलचंद की मृत्यु से दुखी परिजनों का आरोप था कि किसान पर काफी कर्ज था और अधिक बरसात के कारण 20 एकड़ जमीन से केवल आठ क्विंटल सोयाबीन का उत्पादन हुआ था। परिजनों के अनुसार समय पर राहत राशि मिलती तो किसान को आत्महत्या नहीं करनी पड़ती। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here