रो-रोकर छात्रावास में छात्राओं ने सुनाया अपना हाल, कलेक्टर को नोटिस जारी

Sagar Hostel Notice : मप्र मानव अधिकार आयोग ने सागर जिले के बण्डा स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय छात्रावास में निवास कर अध्ययनरत बालिकाओं को गंदा खाना दिये जाने के मामले में त्वरित संज्ञान लिया है। मामले में मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग के कार्यवाहक अध्यक्ष मनोहर ममतानी ने कलेक्टर सागर से 10 दिन में जवाब-तलब किया है।

यह था मामला 

घटना के संबंध में वायरल वीडियो और खबरों के अनुसार जब क्षेत्रीय जनपद पंचायत अध्यक्ष उपरोक्त छात्रावास के निरीक्षण के लिये पहुंचे, तो वहां निवासरत बालिकाओं ने रो-रोकर छात्रावास की भारी अव्यवस्थाओं के बारे में गंभीर शिकायतें कर अपनी आपबीती सुनाई। बालिकाओं ने जनपद अध्यक्ष को बताया कि उन्हें छात्रावास में बेहद गंदा खाना दिया जाता है। उनके खाने में कभी कीड़े-मकोडे, कभी मरी हुई मक्खी, कभी गुटखे, पान मसाले के पाऊच मिलते हैं, जिससे उन्हें उल्टियां होने लगती हैं। कुछ बालिकाएं बीमार भी हैं। गंदा खाने दिये जाने की कहीं शिकायत करें, तो उन्हें कैरियर खराब कर देने की धमकियां दी जाती हैं। हमारी कहीं कोई नहीं सुनता। मप्र मानव अधिकार आयोग ने कलेक्टर सागर को छात्रावास की बालिकाओं द्वारा की गई गंभीर शिकायतों की गहनता से जांच कराने और अगले 10 दिन में तथ्यपरक जवाब देने के आदेश दिये हैं।