प्रदेश के मंत्री जी का अधूरा ज्ञान

सागर। मध्य प्रदेश सरकार के एक मंत्री को यह नहीं पता कि देश में किसे भारत रत्न मिल चुका है और किसे नहीं। हम बात कर रहे हैं प्रदेश के सामाजिक न्याय और कल्याण मंत्री हर्ष सिंह की जिन्होंने सागर में आयोजित एक सभा में संविधान निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर को भारत रत्न देने की मांग कर डाली। मौका था संत रविदास जयंती के अवसर पर आयोजित बड़ी सभा का, जिसमें खुद मुख्यमंत्री कमलनाथ मौजूद थे। कमलनाथ के साथ मंच पर अन्य मंत्री भी मौजूद थे। मामला चूकि दलित वर्ग से जुड़ा हुआ था इसलिए मंत्री जी भावनाओं में बह गए और डॉक्टर भीमराव अंबेडकर को भारत रत्न देने की मांग कर डाली। लेकिन मंत्री जी यह भूल गए कि बाबा साहब अंबेडकर को 31 मार्च 1990 को मरणोपरांत भारत रत्न दिया जा चुका है। अब मंत्री जी के इस अधूरे ज्ञान पर भाजपा चुटकी ले रही है। भाजपा के प्रवक्ता दुर्गेश केसवानी का कहना है कि सामान्य ज्ञान की कमी मध्य प्रदेश सरकार के अधिकांश मंत्रियों में हैं और यही कारण है कि प्रदेश धीरे-धीरे गर्त की ओर जा रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री से मांग की है कि ऐसी अधूरी जानकारी रखने वाले मंत्री जी को तत्काल मंत्री पद से हटाया जाए।