मैनेजर ने मांगी प्रमाण पत्र के लिए एक लाख की रिश्वत, रंगे हाथों गिरफ्तार

सागर। मध्य प्रदेश में रिश्वत का खेल लगातार जारी है। एक के बाद एक हो रही कार्रवाई के बाद भी अफसर सबक नहीं ले रहे हैं। नया मामला छतरपुर का सामने आया है। जहां लोकायुक्त ने छतरपुर में पदस्थ भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के एक प्रबंधक को एक लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है।

सागर लोकायुक्त पुलिस के मुताबिक छतरपुर में पदस्थ एनएचएआई के प्रबंधक सुरेश कुमार को गनेश कोरी नामक एक व्यक्ति से एक लाख रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा गया। आरोपी ने पेट्रोल पंप के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र देने के एवज में गनेश से डेढ़ हजार रुपए मांगे थे। बाद में एक लाख रुपए में मामला तय हुआ था। इसके बाद गनेश में इस मामले की शिकायत लोकायुक्त से की। लोकायुक्त पुलिस ने मामले की जांच के बाद आरोपी प्रबंधक को गनेश से रिश्वत लेते उसके कार्यायल से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी के खिलाफ भ्रष्ट्राचार निवारण अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर लोकायुक्त पुलिस ने मामले को विवेचना में लिया है।