महिला संविदा कर्मी के साथ अभद्रता करने वाले डॉ अभिमन्यु को सेवा से बाहर करने की तैयारी

महिला संविदा कर्मी के साथ मोबाइल पर अभद्रता पूर्ण बातचीत करने के आरोप में डॉ अभिमन्यु अहिरवार पर शिकंजा कस गया है। सागर की सीएमएचओ डॉ मंजू टिमोरे ने इसे गंभीरता से लिया है और. डॉ अभिमन्यु अहिरवार को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

Sagar News:  मध्य प्रदेश के  सागर जिले में महिला संविदा कर्मी के साथ अभद्रता का ऑडियो वायरल होने के बाद संबंधित डॉक्टर अभिमन्यु अहिरवार के खिलाफ सरकार ने कड़ी कार्रवाई की है। सीएमएचओ ने डॉ अभिमन्यु को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। उसके साथ ही डॉक्टर अभिमन्यु को सेवा से पृथक करने का प्रस्ताव भी जल्द भोपाल भेजा जाएगा। इस पूरे मामले को लेकर महिला संविदा कर्मियों में भारी आक्रोश था।

महिला संविदा कर्मी के साथ मोबाइल पर अभद्रता पूर्ण बातचीत करने के आरोप में डॉ अभिमन्यु अहिरवार पर शिकंजा कस गया है। सागर की सीएमएचओ डॉ मंजू टिमोरे ने इसे गंभीरता से लिया है और. डॉ अभिमन्यु अहिरवार को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। सीएमएचओ ने संबंधित एएनएम को निर्देश दिए हैं कि वे राहुल के खिलाफ एफ आई आर दर्ज कराकर उसकी कॉपी उपलब्ध कराएं ताकि डॉक्टर अभिमन्यु को सेवा से पृथक करने का प्रस्ताव भोपाल भेजा जा सके। CMHO का मानना है कि महिला के साथ इस तरह की असभ्यता किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं है और सरकार से गुजारिश की जाएगी कि इस डॉक्टर के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए।

ये है पूरा मामला

दरअसल, सागर में पदस्थ मेडिकल ऑफिसर डॉ अभिमन्यु अहिरवार ने एक संविदा कर्मी महिला को जमकर धमकाया। इतना ही नहीं, उसने उससे खानदान समेत देख लेने की धमकी दी और मां बहन की गालियां भी दी। खबर है कि महिला एएनएम से डॉक्टर ने शाम 5 बजे तक रिपोर्ट मांगी थी जो वह तब दे नहीं पाई और 5 बजे तक देने की बात कर रही थी। लेकिन डॉक्टर ने उसे जमकर लताड़ा और यहां तक कह डाला कि खानदान समेत आ जाओ तो तुम कुछ नहीं कर पाओगी। हड़ताल करके तुमने क्या उखाड़ लिया। महिला को उसने मां की गाली भी दी। संविदा एएनएम चुपचाप सुनती रही।

सीएम-स्वास्थ्य मंत्री से कार्रवाई की मांग

इसके बाद डॉक्टर ने ओबीसी समाज को लेकर व्हाट्सएप चैट पर काफी अभद्र टिप्पणीयां भी की। जिसके बाद से ही संविदा कर्मी इस मामले को लेकर गुस्से में है और उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मांग करते हुए कहा कि आप हम सब बहनों के मामा और भाई हैं और ऐसी स्थिति में यदि इस तरह के मामले सामने आते हैं तो निश्चित रूप से यह काफी दुखद है। वही स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभु राम चौधरी से इस डॉक्टर के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।