50 हजार की रिश्वत लेने वाले ईई घर से मिला ढाई किलाे साेना, करोड़ में पहुंच सकती है संपत्ति

more-than-two-kilo-gold-recovered-from-electricity-company-engineers-bank-locker-in-sagar

सागर।

मध्यप्रदेश के सागर जिले में 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़े गए बिजली कंपनी के एक्जीक्यूटिव इंजीनियर विनय कुमार गुप्ता के यहां से लोकायुक्त को कार्रवाई के दौरान ढाई किलो सोना और 3 किलो चांदी मिली है।टीम को अब तक गुप्ता की 75 लाख रुपए से अधिक की संपत्ति क��� खुलासा हो चुका है। वहीं अदालत ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी।फिलहाल लोकायुक्त पुलिस अब गुप्ता के सतना स्थित घर से चल-अचल संपत्ति की जानकारी जुटा रही है। वही बिजली कंपनी व राजस्व विभाग से गुता की संपत्ति के दस्तावेज मांगे हैं। संपत्ति की कीमत एक करोड़ से अधिक पहुंचने की संभावना है।

            दरअसल, गुरुवार को सागर लोकायुक्त की टीम ने  बिजली कंपनी के एक्जीक्यूटिव इंजीनियर विनय कुमार गुप्ता को मीटर लगाने वाले ठेकेदार शिवहरी पांडेय से 10 लाख रुपए का बिल पास करने के बदले 5 परसेंट कमीशन के हिसाब 50 हजार रुपए की ऱिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया था।जांच में टीम को पता चला था कि  गुप्ता ने मकराेनिया में पदस्थापना के बाद से ही ठेकेदार के बिलाें में अंड़गे डालना शुरू कर दिया था। शुक्रवार काे जब दाे बैंक लाॅकर खाेले गए तो उनमें 2 किला 447 ग्राम साेना और 3 किलाे 357 ग्राम चांदी मिली। साेने का एक बिस्किट व जेवर थे। इनकी कीमत करीब 54 लाख रुपए आंकी गई है। वहीं चांदी की कीमत करीब 90 हजार रुपए है। 

ईई की जमानत खारिज, कंपनी से सस्पेंड

लाेकायुक्त एसपी रामेश्वर सिंह यादव ने बताया कि अभी तक इतनी संपत्ति का खुलासा नहीं हुअआ, जिससे यह कहा जा सके कि संपत्ति अधिकारी की आय से अधिक है। कुछ और चल-अचल संपत्ति की जानकारी मिली है। उसकी जांच चल रही है। उनके परिजन और रिश्तेदाराें की जानकारी जुटाई जा रही है ताकि संपत्ति के बारे में सर्चिंग हाे सके। उधर, काेर्ट ने ईई गुप्ता की जमानत खारिज कर दी है। उन्हें मप्र पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने गुरुवार काे ही सस्पेंड कर दिया था। 

सतना के रहने वाले हैं गुप्ता, 20 साल से हैं नाैकरी में 

ईई गुप्ता मूलत: सतना के रहने वाले हैं। वे करीब 20 साल से बिजली कंपनी में नाैकरी कर रहे हैं। 11 साल से वे सागर जिले में ही पदस्थ हैं। उनकी सतना और अन्य पदस्थापना वाले शहराें में संपत्ति का खुलासा हाे सकता है। उनके मकराेनिया के दीनदयाल नगर स्थित बंगले की गुरुवार देर शाम तक सर्चिंग चली। इसमें कुछ ज्यादा जेवर व नकदी नहीं मिला। उनकी पाॅलिसी, खाते, एफडी आदि की जांच चल रही है। ��नके बंगले की कीमत करीब 20 लाख रुपए आंकी गई है। इस तरह अब तक करीब 75 लाख की संपत्ति ही सामने आई है।