नर्सों ने की जबरन ड्यूटी कराने की शिकायत, एक नर्स के पॉजिटिव आने पर भी नहीं कराई जा रही जांच

सागर/मनीष तिवारी

लॉक डाउन के दौरान बाहरी लोगों को अपने अपने ज़िले में आने की छूट मिलने के बाद सागर के के टीबी हॉस्पिटल स्थित कोरोना जाँच केंद्र में लोगो की भीड़ उमड़ रही है। सैंकडों लोगों के एक साथ इकट्ठा होने से टेस्टिंग में समय भी बहुत ज़्यादा लग रहा है। कई लोग तो 24 से 48 घंटे बीत जाने के बाद भी अपनी रिपोर्ट के लिए भटकते नज़र आ रहे हैं। यहां फैली अफरातफरी की खबर जब सागर विधायक शैलेन्द्र जैन को लगी तो विधायक अपने कुछ सहियोगियों के साथ टीबी हॉस्पिटल पहुँचे जहाँ उन्होंने हालात का जायज़ा लिया और लोगों को गर्मी से राहत के लिए फल और छाँछ वितरित किया। विधायक ने जाँच की प्रक्रिया सरल करने और व्यवस्थित करने के विषय में अस्पताल प्रबंधन से चर्चा की।

वहीं इस दौरान सागर के खुरई रोड स्थित भाग्योदय हॉस्पिटल की कई नर्स अस्पताल प्रबंधन की मनमानी और लापरवाही की शिकायत लेकर टीबी हॉस्पिटल स्थित कोरोना जाँच केंद पहुँची, जहाँ उन्होंने अपनी जाँच की गुहार लगाई। उनके अनुसार भाग्योदय अस्पताल प्रबंधन न तो उनका कोरोना टेस्ट करवा रहा है बल्कि उनसे जबरन ड्यूटी करवा रहा है जबकि भाग्योदय में कार्यरत उनका साथी मेल नर्स हाल ही में संक्रमित पाया गया है। जिसके बाद वहां मौजूद डॉक्टर ने उन्हें जाँच का आश्वासन दिया।