SAGAR: रोजगार सहायक को रिश्वत लेते लोकायुक्त ने रंगे हाथों पकड़ा

सागर, डेस्क रिपोर्ट। सागर लोकायुक्त टीम ने एक रोजगार सहायक को रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है, 40 हजार रूपये की रिश्वत ले रहे रोजगार सहायक की रिश्वत मांगने की बातचीत टेप रिकॉर्डर में रिकार्ड की गई थी,  आवेदक की शिकायत के बाद मामले की पड़ताल करते हुए लोकायुक्त पुलिस ने रणनीति बनाई और मंगलवार को लिधौरा में खेरो-महेबा रोड पर रोजगार सहायक को रिश्वत के राशि के साथ गिरफ्तार कर मामला दर्ज किया। मामले में कार्रवाई जारी है।

यह भी पढ़ें…. नकली वोटर आईडी बनाने वाला गिरफ्तार, मुख्य आरोपी चकमा देकर फरार

यह था मामला 

दरअसल  लिधौरा तहसील क्षेत्र के जरुवा जौवा गांव निवासी महावीर प्रसाद यादव ने लोकायुक्त सागर से एक शिकायत दर्ज कि थी कि ग्राम पंचायत जरुवा जौवा में पदस्थ रोजगार सहायक कालीचरण उर्फ संतोष कुशवाहा रिश्वत मांग रहा है।  महावीर की पत्नी पूर्व में सरपंच थी और अपने कार्यकाल के दौरान कराए गए परकुलेशन टेंक, डक्ट व अन्य कार्य के बिल भुगतान करवाने के लिए वह रोजगार सहायक से बार-बार मिन्नतें कर रहा था।  लेकिन इसके एवज में रोजगार सहायक कालीचरण द्वारा रिश्वत की मांग की जा रही थी। रोजगार सहायक इतना शातिर था कि वह फोन पर रिश्वत की कोई बातचीत नहीं करता था, शिकायत के बाद लोकायुक्त ने महावीर प्रसाद को एक टेप रिकार्डर दिया और रिश्वत देने की बातचीत रिकार्ड की गई और तय किया गया कि मंगलवार को रिश्वत के 40 हजार आवेदक, रोजगार सहायक को देंगे, इसके पहले लोकायुक्त ने महावीर प्रसाद को केमिकल लगे हुए 40 हजार रुपये दिए इसके बाद जैसे ही रोजगार सहायक महावीर के घर पहुंचा और रिश्वत की राशि ली वैसे ही लोकायुक्त ने उसे रंगे हाथों पकड़ लिया।