Sagar News: पूरी हुई प्रहलाद की तपस्या, 20 साल बाद लौटेंगे अपने वतन

सूचना है कि बाघा अटारी बॉर्डर से 30 अगस्त को प्रहलाद को इंडिया भेजा जाएगा।

सागर, अतुल मिश्रा। पाकिस्तान (pakistan) की जेल (jail) में करीब 20 वर्षों से आजादी की बाठ जोह रहे सागर (sagar) के एक ग्रामीण की अब रिहाई हो रही है। पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह (SP Atul Singh) की पहल पर गौरझामर के खामखेड़ा गांव निवासी प्रहलाद सिंह (prahlad singh) को अपने वतन लाया जाएगा।

लंबे समय से अपने बेटे का इंतजार कर रहे परिजनों की आंखों में खुशी के आसू है और एसपी (SP) की तारीफें करते दिख रहे हैं। मिनिस्टरी ऑफ एस्टर्नल एफेयर्स (inistry of externa affairs)  द्वारा जारी किए गए पत्र में बीएसएफ (BSF) को भी सूूचित कर दिया गया है। पाकिस्तान में इंडियन एम्बेसी (Indian embassy) से सूचना है कि बाघा अटारी बॉर्डर से 30 अगस्त को प्रहलाद को इंडिया भेजा जाएगा।

Read More: Transfer In MP: जल्द जारी होगी IAS-IPS अधिकारियों की तबादला सूची, तैयारी पूरी

सजा काटकर अब्बास जा रहा पाकिस्तान

एक तरफ जहां प्रहलाद वापिस वतन वापिसी करेगा, वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान का जासूस 15 साल बाद अब वापस देश जाएगा। जासूस अब्बास अली खान को लेकर ग्वालियर पुलिस अटारी बॉर्डर के लिए रवाना हुई है। बता दें कि जासूस अब्बास अली खान को पुलिस ने 13 मार्च 2006 में गिरफ्तार किया था। वहीं जांच में पता चला कि अब्बास ग्वालियर में नाम बदल कर रह रहा था।

पकड़े जाने के बाद अब्बास अली से सैन्य ठिकानों के 58 दस्तावेज बरामद किए। प्रमुख नक्शे, फर्जी वोटर कार्ड, सिम कार्ड पुलिस ने बरामद किया गया था। जिसके बाद उसे कोर्ट ने सजा सुनाई। वहीं अब सजा पूरी होने के बाद उसे पाकिस्तान भेजा जा रहा है। कोरोना के चलते पाकिस्तान भेजने में देर हुई पर अब स्थिति सामान्य होने के बाद आज अटारी बॉर्डर से पाकिस्तान भेजा जाएगा।