सागर।

मध्यप्रदेश के सागर में शुक्रवार देर रात भीषण हादसा हो गया ।यहां  चिमेस एविएशन का एक ट्रेनी प्लेन हवाई पट्टी से कुछ दूर स्थित खेत में क्रैश हो गया। हादसे में पायलट और ट्रेनी की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। बताया जा रहा है हादसा कोहरे के कारण हुआ है।  घटना के बाद दिल्ली से चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर वायएन शर्मा सागर के लिए रवाना हुए।

मिली जानकारी के अनुसार,घटना जिले के ढाना क्षेत्र की है। चिमेस एविएशन अकादमी ढाना से ट्रेनी विमान ने शुक्रवार की रात करीब 8.35 बजे उड़ान भरी थी। करीब आधे घंटे बाद लैडिंग के दौरान पायलट को कोहरे के कारण हवाई पट्टी दिखाई नहीं दी। ट्रेनी पायलट चंदेल (30) और ट्रेनर मकवाना (58) दोनों ने हड़बड़ी में प्लेन खेत में उतार दिया, जिससे वह क्रैश हो गया। अकादमी के अफसरों के अनुसार जिस समय विमान ने उड़ान भरी थी उस समय ज्यादा कोहरा नहीं था। ट्रेनी और ट्रेनर दोनों को भी यह अंदाजा नहीं था कि उड़ान के कुछ देर बाद ही कोहरा इतना बढ़ जाएगा कि रनवे दिखाई नहीं देगा। जानकारी मिलते ही चिमेस एविएशन अकादमी के अधिकारी घटना स्थल पहुंचे और घायलों को विमान से निकालकर निजी वाहन से अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।दोनों मुंबई के रहने वाले थे। घटना के बाद दिल्ली से चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर वायएन शर्मा सागर के लिए रवाना हुए।

सीएम और पूर्व सीएम ने जताया शोक

इस हादसे पर सीएम कमलनाथ और पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने शोक जाहिर किया है। सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा कि प्रदेश के सागर की ढाना हवाई पट्टी पर एक विमान हादसे में दो प्रशिक्षु पायलट की मौत का दुःखद समाचार प्राप्त हुआ। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएं। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान व पीछे परिजनों को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।वहीं पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सागर के ढाना में ट्रेनी एयरक्राप्ट के क्रैश होने से पायलट और को-पायलेट के मारे जाने का दुःखद समाचार मिला। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्माओं को शांति दें और परिजनों को इस वज्रपात को सहने की शक्ति दें।