सुरखी कांग्रेस प्रत्याशी पारुल साहू ने निर्वाचन आयोग से की एसडीएम और तहसीलदार की शिकायत

सागर के सुरखी विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस की प्रत्याशी पारुस साहु ने चुनाव आयोग से एसडीएम और तहसीलदार की शिकायत करते हुए उन्हे निलंबित करने की मांग की है।

सुरखी उपचुनाव में कांग्रेस की अधिकृत प्रत्याशी पारुल साहू

सागर/सुरखी, ब्रजेन्द्र रायकवार। जिले की सुरखी उपचुनाव में कांग्रेस की अधिकृत प्रत्याशी और पूर्व विधायक पारुल साहू ने सागर एसडीएम संतोष चंदेल और जैसीनगर तहसीलदार एलआर जाघड़े को निलंबित करने की मांग चुनाव निर्वाचन आयोग से की है।

शिकायती पत्र में पारूल साहू ने एसडीएम संतोष चंदेल पर व्यक्तिगत रूप से उनके परिवार से द्वेष भावना रखने का आरोप लगाया है, क्योंकि विधायक रहते पारूल साहू ने विधानसभा में एसडीएम संतोष चंदेल के विरुद्ध एक प्रकरण में प्रश्न किया था तथा सरकार ने एसडीएम संतोष चंदेल को सागर एसडीएम पद से हटाने एवं जांच के आदेश दिए थे। इसी तरह जैसीनगर तहसीलदार एलआर जाघड़े पर भाजपा के प्रत्याशी गोविंद सिंह राजपूत के पक्ष में कार्य करने का आरोप लगाते हुए निर्वाचन आयोग से दोनों अधिकारियों को निलंबित कर दूसरे संभाग में मुख्यालय बनाने की मांग की है। वहीं इस मामले में भाजपा प्रत्याशी गोविंद सिंह राजपूत के बड़े भाई मंत्री प्रतिनिधि हीरा सिंह राजपूत का कहना है कि कांग्रेस के पास अब कोई मुद्दा नहीं बचा है इसलिए अधिकारियों की शिकायत कर रही है।

वहीं इस मामले में भाजपा प्रत्याशी गोविंद सिंह राजपूत के बड़े भाई मंत्री प्रतिनिधि हीरा सिंह राजपूत का कहना है कि कांग्रेस के पास अब कोई मुद्दा नहीं बचा है इसलिए अधिकारियों की शिकायत कर रही है। बता दें कि 18 सितंबर को बीजेपी की पूर्व विधायक पारुल साहू ने कांग्रेस का दामन थामा था। पारुल साहू ने पूर्व सीएम कमलनाथ की मौजूदगी में कांग्रेस की सदस्यता ली थी। परूल साहू ने 2013 के विधानसभा चुनाव में उस समय कांग्रेस के उम्मीदवार गोविंद सिंह राजपूत को 142 वोटों से मात दी थी। वहीं 2018 के चुनाव में बीजेपी ने पारुल साहू को टिकट नहीं दिया था। वहीं इसी साल कांग्रेस से प्रत्याशी रहे गोविद सिंह राजपूत विधानसभा पहुंचे थे।

सुरखी कांग्रेस प्रत्याशी पारुल साहू ने निर्वाचन आयोग से की एसडीएम और तहसीलदार की शिकायत