अफसर को जिन्दा जलाने की कोशिश, आग लगाने वाला भी शहर से दूर झुलसा मिला, मौत

Trying-to-burn-the-officer-alive-Shahgadh-sagar-district

सागर/शाहगढ़| मध्य प्रदेश में इन दिनों एक बाद एक आपराधिक वारदातें सामने आ रही हैं| ताजा मामला सागर जिले से सामने आया है| जहां शाहगढ़ में एक अफसर को उनके ही निवास पर ज़िंदा जलाने का प्रयास किया गया और जिसमे वो गंभीर रूप से झुलस गए| वहीं घटना में नया मोड़ तब आया जब अधिकारी को जलाने के मामले में आरोपी बनाया गया शख्स भी शहर से दो किलोमीटर दूर जली हुई अवस्था में मिला| जिसकी अस्पताल लाते समय मौत हो गई| अब मामले में आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है, वहीं पुलिस पर भी आरोप लगे हैं| 

दरअसल,  बुधवार को जनपद पंचायत में सहायक विकास अधिकारी अमन चौधरी अपने निवास जनपद मुख्यालय अमरमऊ में अख़बार पढ़ रहे थे। तभी चक्रेश जैन जो एक अखबार का संवाददाता है, वो वहाँ पर आया और पेट्रोल डाल कर अमन चौधरी को आग लगा दी। इस घटना से इलाके में हड़कंप मच गया| सूचना मिलते ही शाहगढ़ टी आई पुलिस बल लेकर घटना स्थल पहुंचे और अधिकारी को अस्पताल ले जाया गया, जहाँ से प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रैफर कर दिया |  घटना स्थल से पुलिस को आरोपी का मोबाईल फोन मिला| पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी | पुलिस के अनुसार दोनों का एक मामला अदालत में विचाराधीन है। पुलिस मामले की छानबीन कर तह तक जाने का प्रयास कर रही है। बताया जा रहा है कि चक्रेश और अमन चौधरी के बीच वर्षो से अदालत में मामला चल रहा है। sc/st एक्ट के इसी मामले की बुधवार 19 जून को फैसले की पेशी थी। चौधरी के घर कुछ लोगों की उपस्थिति में समझौते का प्रयास हो रहा था। 

इसके बाद मामले में नया मोड़ आया और संदेह की स्तिथि बन गई| मामले में आरोपी बनाया गया चक्रेश जैन 90%जली अवस्था में शहर से दो किलोमीटर दूर मिला|जिसकी अस्पताल लाते समय मौत हो गई | वही मृतक के भाई ने आरोप लगाया कि उसके भाई को सहायक विस्तार अधिकारी ने प्रकरण में समझौता करने बुलाया था और जलाकर मार दिया | वही एक वीडियो भी वायरल हुआ है जिसमे मृतक चक्रेश एक झोपड़ी में घायल पड़ा है  | पूरे मामले की जांच करने एफएसएल टीम मौके पर पहुंच चुकी है वही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भी शाहगढ़ रवाना हो गए हैं।