ग्रामीणों ने सौंपा सीएम के नाम ज्ञापन, दी उग्र आंदोलन की धमकी

सागर, ब्रजेन्द्र रैकवार। जैसीनगर तहसील क्षेत्र के ओरिया गांव में बनने वाले प्रहलाद जलाशय का जलभराव क्षेत्र कम करने के विरोध मे ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री के नाम जैसीनगर तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा।

ग्रामीणों ने ज्ञापन में बताया कि मध्यप्रदेश सरकार के सिंचाई विभाग द्वारा सन 1980-81 में सर्वे किया गया था। जब उसका क्षेत्रफल तकरीबन 363 एकड का था और इसी क्षेत्रफल के हिसाब से जलाशय की डीपीआर तैयार की गई और इस परियोजना की लागत 16 करोड़ रूपये रखी गई। वहीं कुछ स्थानीय लोगों की ज़मीन डूब क्षेत्र में जा रही और यही कुछ लोग अपनी जमीन बचाने के लिए राजनीतिक दबाव बनाकर डीपीआर में संशोधन कर जलाशय का जलभराव क्षेत्र को 60 एकड़ कर, परियोजना छोटा कर दिया गया, जिसकी लागत अब 4 करोड रुपए है।

ग्रामीणों का कहना है कि अगर पूर्व डीपीआर की मुताबिक जलाशय का निर्माण होता है तो चार-पांच गांव के किसानो को इसका लाभ मिलेगा। वही अब ग्रामीणों का कहना है शासन द्वारा मांग नहीं मानी गई तो हम लोग उग्र आंदोलन करने के लिए मजबूर हो जाएंगे।

गौरतलब है कि सुरखी विधानसभा की पूर्व विधायक पारुल साहू के कार्यकाल में साल 2017-18 में जैसीनगर तहसील के ग्राम ओरिया में प्रहलाद जलाशय स्वीकृत करवाया था, इस जलाशय का नाम ओरिया गांव के रहने वाले भाजपा के वरिष्ठ नेता स्वर्गीय प्रहलाद सिह के नाम पर रखा गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here