Road accident : तेज रफ्तार ट्रक से टकराई कार, पति-पत्नी और बच्चों सहित खत्म हुआ परिवार

मैहर थाना क्षेत्र के जीतनगर के पास ट्रक और कार की जोरदार भिड़ंत हो गई, जिसमें पति-पत्नी समेत बेटी की मौके पर मौत हो गई वहीं एक बेटा गंभीर रूप से घायल था जिसकी अस्पताल में इलाज के दौरान मृत्यु हो गई।

सतना, डेस्क रिपोर्ट। मैहर (Maihar) थाना क्षेत्र में जीतनगर गांव के पास भीषण सड़क हादसा (road accident) हो गया जिसमें एक ही परिवार के 4 लोगों की मौत हो गई। जीतनगर गांव के पास तेज रफ्तार ट्रक (speedy truck) और कार (car) की जोरदार भिड़ंत हो गई जिसमें पति, पत्नी और दो बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई। वहीं एक बच्चा गंभीर घायल हो गया था जिसे तुरंत इलाज के लिए हॉस्पिटल भेजा गया था, लेकिन कुछ ही देर में इलाज के दौरान उसने भी दम तोड़ दिया। हादसे के कुछ समय पहले ही परिवार ने एक फोटो खींची थी, लेकिन उन्हें भी नहीं मालुम था कि ये तस्वीर उनकी आखरी तस्वीर होगी।

ये भी देखें- कर्मचारियों को जल्द मिलेगी बड़ी खुशखबरी! 56000 तक बढ़ेगा वेतन, मिलेगा अन्य भत्ते का लाभ

जानकारी के मुताबिक कार सत्य प्रकाश उपाध्याय चला रहे थे। वे परिवार के साथ एक शादी समारोह में शामिल होने के लिये कार से मैहर से सतना जा रहे थे। उसी दौरान रात करीब 11:00 बजे परिवार सतना से मैहर पहुंचने ही वाला था कि सामने से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक से जोरदार टक्कर हो गई। हादसा इतना भयानक था कि ट्रक टक्कर के बाद काफी दूर तक कार को घसीटते हुए ले गया। घटना के बाद मौके पर अफरा-तफरी का माहौल मच गया। आनन-फानन में स्थानीय लोगों की मदद से घायल मासूम को उपचार के लिए मैहर अस्पताल भिजवाया, वहीं मृतकों के शव को कार से बाहर निकालकर शव ग्रह भिजवाया गया। हादसे के वक्त कार में माता-पिता और दो मासूम मौजूद थे।

ये भी देखें- मंत्री का विवादित बयान- कैटरीना के गाल जैसी बनेंगी सड़कें

कार में सवार मृतकों के नाम पति सत्य प्रकाश उपाध्याय उम्र 40 वर्ष, पत्नी मेनिका उपाध्याय उम्र 35 वर्ष, बेटी इशानी उपाध्याय उम्र 10 वर्ष है, जबकि गंभीर रूप से घायल स्नेह उपाध्याय उम्र 8 वर्ष है, जिसकी अस्पताल में इलाज के दौरान मृत्यु हो गई।  मृतक सत्य प्रकाश उपाध्याय मोबाइल दुकान चलाता था। इस हादसे में घायल मासूम को सतना जिला अस्पताल ले जाया गया था, लेकिन उसने भी इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। पुलिस ने आरोपी ट्रक ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है। मैहर से सटा हुआ करीब 5 किलोमीटर में जीतनगर है, जहां निर्माण एजेंसी TBCL द्वारा सड़कों के किनारे कोई भी पट्टी नहीं बनाई गई है, जिसकी वजह से आये दिन लोग इस रोड पर हादसे का शिकार होते हैं।